अंजड़ (नईदुनिया न्यूज)। समीपस्थ चकेरी में करीब आठ फीट लंबा अजगर मिलने से दहशत फैल गई। ग्रामीणों की सूचना पर समाजसेवी युवकों ने मौके पर पहुंचकर अजगर को पकड़ा और वन विभाग की मदद से जंगल में छोड़ा।

जानकारी के अनुसार चकेरी में मंगलवार दोपहर को करीब आठ फीट लंबा अजगर देखे जाने से हड़कंप मच गया। इसकी सूचना पूरे गांव में फैल गई। मौके पर थॅैक्यू वेलफेयर टीम के सदस्य दीपक मुवेल पहुंचे। उन्होंने रेस्क्यू करके अजगर को पकड़ा और बावनगजा के जंगल में छोड़ा। थैंक्यू वेलफेयर टीम सदस्यों की मानें तो अजगर इंडियन पाइथन प्रजाति का है। वहीं उसके नजदीक अंडे भी देखे गए। यह वह चकेरी के नाले के पास सुनसान क्षेत्र में बने खोल में घुसा हुआ था।

युवकों ने करीब दो घंटे कि कड़ी मशक्कत के बाद अजगर को बड़े थैले में बंद किया। इसके बाद वन विभाग के वन रक्षक अनिल चौगणे को सूचना दी गई। वनकर्मी व युवकों ने मिलकर बावनगजा के समीप जंगल में अजगर को छोड़ा। ग्राम पंचायत चकेरी के ग्राम रोजगार सहायक राजपाल चौधरी ने बताया कि गांव में पहली बार इतना बड़ा अजगर देखा गया। सर्प विशेषज्ञ दीपक मुवेल के अनुासर इंडियन पाइथन प्रजाति का मादा अजगर है। उसका वजन करीब 15 से 18 किलोग्राम है। उसके पास से लगभग 10 से 12 अंडे भी मिले हैं।

उल्लेखनीय है कि सांपों की दुनिया में करीब दो हजार प्रजातियां होती हैं। अजगर इनमें विशालकाय सर्प होते हैं। यह विषहीन होते हैं लेकिन प्राणी इनके चंगुल में फंस जाए तो उसे निगल जाते हैं।अमूमन अजगर सात से 25 फीट तक लंबे हो सकते हैं। अकसर पानी ओर अंडों की सुरक्षा के लिए यह सुरक्षित जगह की तलाश में जंगल से अजगर बाहर आ जाते हैं। खेतों में वर्षा पूर्व जमीन को सुधारने का कार्य चल रहा है। इससे भी जीव जंतु विचलित होकर गांवों का रुख कर लेते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close