*शैक्षणिक संस्थाओं में उत्साह से पहुंचे विद्यार्थी

खरगोन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। एकीकृत माध्यमिक विद्यालय अघावन में यज्ञ और विद्यारंभ संस्कार के साथ कक्षा पहली से छठी तक के विद्यार्थियों को प्रवेश देकर प्रवेशोत्सव मनाया गया। पुस्तकें भी बांटी गईं।

गायत्री शक्तिपीठ उबदी के परिव्राजक जितेंद्र व शिवराम पाटीदार ने शाला के शिक्षक मोहनलाल वर्मा, सुरेश पाटीदार, कैलाश सोनी, रमेश पाटीदार, अर्चना पारीख की उपस्थिति में सर्वप्रथम मां सरस्वती, भारत माता व आचार्य चाणक्य के चित्र के समक्ष पूजन-अर्चन कर कार्यक्रम का प्रारंभ किया। इसके बाद यज्ञ में सभी बच्चों से क्रमशः आहुति दिलवाकर विद्यारंभ संस्कार किया। शिक्षकों व गायत्री परिजनों ने बच्चों को तिलक वंदन करके प्रवेश दिया। पुस्तक वितरण कर कार्यक्रम हुआ। संस्था के प्रधानपाठक राजाराम पाटीदार ने बच्चों को नियमित शाला आकर पढ़ाई व दिए गए अभ्यास को पूर्ण करने का आव्हान किया। शिक्षक राधेश्याम पाटीदार ने आभार व्यक्त किया। इसी प्रकार एकीकृत हायर सेकंडरी स्कूल कुकड़ोल में प्रवेशोत्सव मनाया गया। प्राचार्य ललिता धुले व रामकृष्ण महाजन ने मां सरस्वती की प्रतिमा की पूजा अर्चना की। इस अवसर पर विद्यार्थियों को पुस्तकें वितरित की गई।

बबलाई। संकुल केंद्र की प्राथमिक व माध्यमिक स्कूलों में बीईओ डा. बसंत वर्मा के मार्गदर्शन में प्रवेश उत्सव मनाया गया। जनशिक्षक बलवीरसिंह सोलंकी व दिलीपसिंह भूरिया ने बताया कि संकुल की 28 प्राथमिक व माध्यमिक शालाओं एक हजार 700 बच्चे दर्ज हैं। प्रथम दिन 50 प्रतिशत उपस्थिति रही। शासकीय प्राथमिक स्कूल गुजरमोहना की शिक्षिका रानू शर्मा ने बताया कि बच्चों का तिलक लगाकर व मुंह मीठा करवाकर प्रवेश दिलाया गया। कोरोना काल के बाद स्कूल खुलने से बच्चों में विशेष उत्साह देखा गया।

बन्हेर। समीपस्थ माध्यमिक विद्यालय मांडवखेड़ा में प्रवेशोत्सव पर प्रधान पाठक रफीक मिर्जा ने बताया कि विद्यार्थियों में विज्ञान, गणित व भाषा विषय की कठिन अवधारणाओं का अभ्यास कराया जाए ताकि माह जून से विधिवत पाठ्यक्रम अनुसार पढ़ाई हो सके। शिक्षिका जमना बर्डे, शिक्षक रमेश एस्के, मूनसिंह जाधव, दिलीप चौहान आदि मौजूद थे।

कसरावद। शासकीय प्राथमिक विद्यालय बाड़ी में विद्यार्थियों को तिलक लगाकर स्वागत कर प्रवेश उत्सव मनाया गया। इस अवसर पर शिक्षा विभाग के संजय कर्मा, मुकेश यादव, गिरधारी यादव, राजेश गांगले, जगदीश मीणा आदि मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close