-बेड़िया, ठनगांव, सामेड़ा में निकले शिवडोले

बेड़िया। नईदुनिया न्यूज

मिर्च मंडी के शिव मंदिर से बुधवार को शिवडोला निकाला। मंत्रोच्चार के साथ भगवान शिव का रुद्राभिषेक, श्रृंगार, पूजन, आरती की गई। इसके बाद भगवान को पालकी में विराजित कर यात्रा निकाली गई। भोले शंभु-भोले नाथ के जयघोष से वातावरण धर्ममय हो गया। राधे-राधे मित्र मंडल के तत्वावधान में निकले डोले में डीजे, ढोल-ताशे, बग्घी, घोड़े आदि शामिल थे। बग्घी मे स्वरूप देकर सजाई शिव की झांकी मुख्य आकर्षक का केन्द्र रही। डीजे की धुनों पर भक्त थिरकते रहे।बाजार क्षेत्र, खरगोन रोड सहित विभिन्ना मार्गों पर शिवडोले का पुष्पवर्षा व गुलाल से स्वागत हुआ। स्वल्पाहार व पेयजल के सेवा मंच लगाए गए। मुख्य मार्गों से डोला देर रात पुनः मंदिर पहुंचा। जहां महाआरती कर प्रसादी वितरण की गई। पं. गणेश पाठक व पं. संजय पाठक ने पूजन कराया। शिवडोले में केशरीलाल कुमरावत, दिलीप पटेल, राकेश वर्मा, ओपी राठौड़, अजय पाठक सहित सैकड़ों श्रद्धालु शामिल थे।

ठनगांव। श्रावण के आखिरी मंगलवार को ग्राम में भगवान काशी विश्वनाथ का डोला धूमधाम से निकला। भगवान शिव की झांकी के साथ अन्य झाकियां भी निकली। सरदार युवा संगठन, पाटीदार समाज और क्षत्रिय युवा संगठन कुशवाहा समाज द्वारा भोलेनाथ की प्रसादी स्वल्पाहार के लिए मंच लगाए।

खामखेड़ा। जय श्री महाकाल शिवडोला समिति सामेडा ने ग्राम में शिवडोला निकाला। धार्मिक प्रसंगों से जुड़ी झांकियां निकाली गई। समिति अध्यक्ष महेंद्रसिंह दरबार, उपाध्यक्ष जितेंद्रसिंह राठौड़, महामंत्री जितेंद्र सिसौदिया, मंत्री अजय पटेल, सचिव धीरज पाटीदार, संयोजक गौतम राठौड़, सुभाष सोलंकी, अजय पाटीदार, उदय राणा, निखिल पटेल, दीपक जयसवाल, संदीप पटेल सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए।

कसरावद। श्रावण में नगर की महिला मंडल द्वारा प्रतिदिन भगवान शिव के भजन किए जा रहे हैं। महिला मंडल की सुनीता राकेश पाटीदार ने बताया कि महिलाओं ने 13 वर्ष पहले भजन की शुरुआत की थी यह सिलसिला जारी है। मंडल में 40 से 45 महिलाएं हैं।

भगवानपुरा। बम भोले के जयकारों के साथ मंगलवार को ग्राम काबरी के भीलट बाबा मंदिर से कावड़ यात्रा निकाली गई। वनवासी कल्याण परिषद व शिवपंथी सत्संगी कावड़ यात्रा में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। कुलदीपसिंह चौहान, छतरसिंह मंडलोई, जीतू सेन, आसाराम बिल्लोरे, बजरंग वर्मा, मनोज सेन, मुकेश सेन आदि ने सेवा मंच लगाकर कावड़ियों को फल वितरित किए।

-14केजीएन-155-बेड़िया में भगवान शिव को पालकी में विराजित कर श्रद्धालुओं ने डोला निकाला। -नईदुनिया

-14केजीएन-156-कसरावद में भजन करती महिला मंडल की सदस्य। -नईदुनिया