खरगोन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में अपात्रों को लाभ दिलाने व पात्रों का पंजीयन कराने आदि के नाम पर हुई अवैध वसूली के मामले में शनिवार को छह के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। एसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि शासकीय योजनाओं में गड़बड़ी करने वाले किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा। जिले से जितने भी हितग्राहियों ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के लिए पोर्टल पर पंजीयन करवाया था, सभी की जांच एसआइटी बनाकर की जाएगी।

ज्ञात हो कि गत 31 मई को ग्राम पंधानिया के विजय राणे ने सीएम हेल्प लाइन पर शिकायत की थी। इसमें विजय ने मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत खरगोन में गत 21 मई को हुए आयोजन में विजय कोचले द्वारा पांच हजार रुपये की मांग करने के आरोप लगाए थे। वहीं ऐसे अन्य मामले भी सामने आए। इस पर कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने डिप्टी कलेक्टर ओमनारायण सिंह और सीएमओ प्रियंका पटेल को संयुक्त रूप से जांच सौंपी थी। जांच में शिकायत सही पाए जाने पर लिप्त पाए गए शासकीय हाईस्कूल कदवाली के शिक्षक रोहित मनाग्रे और मांडवखेड़ा के सचिव मालसिंह बर्डे को निलंबित किया गया था। वहीं विजय कोचले, विश्राम डुडवे, बलवंत डावर, नरेंद्र बड़ोले, दिनेश निवासी धूलकोट, श्यामलाल उपाध्याय चंदावड़ व अन्य लोगों पर अवैध वसूली व धमकाने जैसे तथ्यों व बयानों के आधार पर एफआइआर के निर्देश दिए गए थे। ज्ञात हो कि गत मई माह में जिला मुख्यालय सहित कुल सात स्थानों पर योजना के तहत 531 जोड़ों का विवाह हुआ है।

पुलिस एसआइटी करेगी सुक्ष्‌मता से जांच

एसपी धर्मवीर सिंह ने बताया कि प्रशासन से मिली जांच रिपोर्ट के आधार पर नरेंद्र बड़ोले, दिनेश निवासी धूलकोट, श्यामलाल उपाध्याय, विजय कोचले, भानूश्री दीक्षित व निलंबित शिक्षक रोहित मनाग्रे के खिलाफ खरगोन थाने पर एफआइआर दर्ज की गई है। एसपी ने बताया कि एसआइटी के माध्मय से पोर्टल पर पंजीकृत प्रत्येक हितग्राही के बयान लिए जाएंगे। यदि किसी अन्य द्वारा गलत तरीके से योजना में शामिल करवाने के नाम पर वसूली की बात सामने आई तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close