मगरखेड़ी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुंबई-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित सत्राटी सेंचुरी कंपनी के मुख्य गेट पर गत दिनों सेंचुरी प्रबंधन एवं एसडीएम को लेकर मेधा पाटकर ने बैठक ली। पहले तो मेधा पाटकर मजदूरों को लेकर कंपनी के परिसर में मंदिर गेट से अंदर जाकर प्रबंधन से बात करने का आग्रह किया। वहीं प्रशासन ने प्रबंधक को बाहर बुलाकर मेन गेट पर वार्तालाप करवाया। पिछले चार सालों से सत्याग्रह कर रहे सेंचुरी कारखाना प्रबंधन के वीआरएस को लेकर लिए निर्णय को गलत करार देते हुए श्रमिक जनता संघ यूनियन के अध्यक्ष एवं नर्मदा बचाओ आंदोलन की मुख्य मेधा पाटकर ने मजदूरों के पक्ष में मोर्चा संभाला। उन्होंने कहा कि जो कंपनी के कर्ताधर्ता लोगों द्वारा वीआरएस के नाम पर जो पांच लाख रुपये देने का निर्णय लिया है, उससे श्रमिकों का जीवन नहीं कट सकता। बैठक में एसडीएम संघप्रिय एवं सेंचुरी प्रबंधक अनिल दुबे शामिल हुए।

मेधा पाटकर ने एसडीएम संघप्रिय को बताते हुए कहा अगर निर्णय होना है तो हाईकोर्ट का आदेश है कि वेतन चालू रखना है और इन्होंने इतने महीने जो मिल बंद रखी या अवैध रूप से रखी है। कंपनी ने औद्योगिक विवाद अधिनियम में का पालन नहीं किया है। हमारी मांग है निर्णायक चर्चा होनी चाहिए। एसडीएम संघप्रिय ने बताया कि प्रथम बार वार्तालाप के लिए बुलाया है। इसके बाद हम सक्षम न्यायालय में इसका समाधान देखें तो अच्छा रहेगा। वीआरएस का जो मामला है, गलत लगाया है। संवाद से जो सक्षम न्यायालय है वहां अपील करें लेबर कोर्ट है। उनके बीच मध्यस्थता हो तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

सेंचुरी के श्रमिकों ने एकजुट होकर संकल्प लिया कि हम अपना हक को हासिल करने का करके ही रहेंगे। बैठक समाप्त होते ही शाम सात बजे बजे सेंचुरी कंपनी के मजदूरों के द्वारा मजदूरों एवं महिलाओं बच्चो सहित रोजगार के मांग के लिए एवं वीआरएस के नोटिस के विरोध में मशाल रैली पूरे गांव में निकालकर हाईवे से होते हुए प्रशासन की मौजूदगी में सेंचुरी के मेन गेट के पास समाप्त की। इस दौरान तहसीलदार केसिया सोलंकी, एसडीओपी ध्रुवराज सिंह चौहान, थाना प्रभारी वरुण तिवारी, चौकी प्रभारी राजेंद्र सिंह बघेल सहित पुलिस बल लगा रखा है।

*हमारी कंपनी ने जो नोटिस लगाया वह मजदूर हित में ही है। जो स्कीम है, वह मजदूरों की रिटायरमेंट तक की उम्र तक ध्यान में रखते हुए किया गया है। मजदूरों के हित में जो नोटिस लगाया है वह स्वैच्छिक है।-अनिल दुबे, प्रबंधक, सेंचुरी यार्न डेनिम

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local