खरगोन, नईदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने आश्वस्त किया कि दंगे के मूल कारण क्या हैं और मुख्य आरोपित कौन हैं, उन्हें चिन्हित कर लिया गया है, इस पर जल्द ही बड़ी कार्रवाई होगी।

यह बात उन्होंने खरगोन के दौरे पर पुलिस विभाग की समीक्षा करने के बाद पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही।उन्होंने निमाड़ के चार जिलों के लिए एक अलग से बटालियन स्थापित करने की बात कही, इसका मुख्यालय खरगोन रहेगा। साथ ही गृहमंत्री ने खरगोन जिला मुख्यालय पर दो पुलिस थाने बिस्टान नाका व जैतापुर में स्थापित किए जाने की बात भी कही। साथ ही जिले के बड़वाह में एडिशनल एसपी का एक अतिरिक्त पद स्वीकृत करने के बाद भी कहीं। टेरर फंडिंग को लेकर पूछे गए सवाल पर गृहमंत्री ने कहा कि ना तो टेरर रहेगा, न फंडिंग हो पाएगी। जल्द ही प्रभावी कार्रवाई देखने को मिलेगी।

पदाधिकारियों को रोकने पर हुआ हंगामा

प्रदेश के गृहमंत्री डॉ नरोत्तम मिश्र शुक्रवार सुबह 10:40 बजे जिला मुख्यालय स्थित सर्किट हाउस पहुंचे। गृहमंत्री के पहुंचने के बाद सर्किट हाउस में परिसर में आ रहे भाजपा जिला उपाध्यक्ष लक्ष्मण इंगले, भाजयुमो जिलाध्यक्ष रवि वर्मा, सांसद प्रतिनिधि कल्याण अग्रवाल सहित अन्य कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोक लिया। इस बात को लेकर हंगामे की स्थिति बन गई।

सर्किट हाउस मुख्य द्वार पर तैनात अजाक एसडीओपी अजय दुबे ने पदाधिकारियों को अंदर जाने से रोका। इस पर पदाधिकारियों ने खासी नाराजगी जाहिर की और अंदर आने से मना कर दिया। हंगामा बढ़ता देख तहसीलदार योगेंद्र सिंह मौर्य और एसडीएम मिलिंद ढोके मौके पर पहुंचे और भाजपा पदाधिकारियों को समझाइश देकर अंदर लाए।

करीब 15 मिनट सर्किट हाउस रूकने के बाद जब ग्रह मंत्री पुलिस कंट्रोल रूम के लिए निकल रहे थे, तो पदाधिकारियों ने उन्हें रोककर अपनी आपत्ति दर्ज की।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close