तैयारी : 13 अगस्त को परंपरागत धूमधाम से अधिष्ठाता भगवान श्रीसिद्धनाथ महादेव करेंगे नगर भ्रमण

खरगोन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगर के अधिष्ठाता भगवान श्रीसिद्धनाथ महादेव के 13 अगस्त शनिवार को होने वाले 54वें नगर भ्रमण में देश के नौ राज्यों की लोक कला व संस्कृति के दर्शन होंगे। शिवडोला में मध्यप्रदेश सहित हरियाणा, महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, गुजरात, पंजाब, केरल, कर्नाटक के लोक कलाकार नृत्य कला के माध्यम से सनातन धर्म व लोक संस्कृति का अनूठा प्रदर्शन करेंगे।

सार्वजनिक श्रावण मास समारोह समिति सिद्धनाथ महादेव मंदिर भावसार मोहल्ला खरगोन के प्रवक्ता प्रकाश भावसार ने बताया कि अनिल तिलकधारी के नेतृत्व में केरल की लोक कला संस्कृति के माध्यम से शिवभक्तों का उत्साहवर्धन करेंगे। शिवडोले में राजू कृष्णा ग्रुप हिसार (हरियाणा) का महाकाली नृत्य, सुुनील तिलकधारी व साथी कलाकार हिसार (हरियाणा) का महाबली हनुमान व वानर दल और महाबली महादेव व अघोरी दल आकर्षण का केंद्र रहेंगे। मथुरा उत्तरप्रदेश का राधाकृष्ण मयूर नृत्य, गुजरात का घूमर नृत्य दल की प्रस्तुतियां शिवभक्तों को झूमने पर मजबूर करेगी। राजस्थान का कालबेलिया नृत्य, काठी नृत्य, झाबुुआ व भगवानपुरा का आदिवासी नृत्य, अंकित शर्मा (इंदौर) की महाकाल की सवारी, भूत-पिशाच मंडली, धार के श्रीहरिदास डांस एवं आर्ट ग्रुप की भोले की बरात, राधाकृष्ण नृत्य, कालिका माता का खप्पर, उड़ता हनुुमान व केेदारनाथ मंदिर की झांकी रहेगी। गुजरात का आदिवासी गरबा नृत्य दल धार्मिक व सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देंगे।

सेवा मंच के लिए लेना होगी अनुमति

समिति अध्यक्ष नवनीतलाल भंडारी व सचिव विनीत महाजन ने बताया कि शिवडोला में नगर के इलेक्ट्रिकल इंजीनियर नितिन मालवीया के सहयोग से दीवार व खंभों पर चढ़ते महाबली हनुुमान आकर्षण का केंद्र रहेंगे। भाजपा जिलाध्यक्ष राजेंद्र राठौर मंडल के सहयोग से राजस्थान का मयूर नृत्य दल शिवभक्तों को झूमने पर मजबूर करेगा। सिद्धनाथ महादेवजी की मुख्य झांकी के साथ अन्य झांकियां, साउंड सिस्टम, अखाड़े़, नृत्य दल, ढोल-ताशा, नगाड़ा, शोभा बढ़ाएंगे। समूचे शिवडोला मार्ग पर विभिन्ना संगठनों द्वारा सेवा मंच लगाए जाएंगे। अखाड़ा, झांकी, साउंड सिस्टम व सेवा मंच संचालक शिवडोला समिति से गुरुवार तक आवश्यक अनुमति प्राप्त कर लें।

आपत्तिजनक व फिल्मी गीत रहेंगे प्रतिबंधित

समिति संरक्षक मनोहर भावसार ने बताया शिवडोला में आपत्तिजनक गीत व फिल्मी गाने पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। मुख्य झांकी को छोड़कर अन्य झांकी, अखाड़े, नृत्य दल, साउंड सिस्टम आदि बावड़ी बस स्टैंड व राधावल्लभ मार्केट से शिवडोले में शामिल होंगे। शिवडोले में प्रवेश से पूर्व अन्य स्थानों पर प्रदर्शन, प्रस्तुति नहीं देंगे। श्रद्धालुओं द्वारा मुख्य झांकी पर कर्पूर आरती ही की जा सकेगी। शिवडोला में गुुलाल उड़ाने, पानी के पाउच, केले के वितरण और स्वागत मंच लगाने पर पूूर्णतः प्रतिबंध रहेगा।

---

यह रहेगा शिवडोला मार्ग

सिद्धनाथ महादेव मंदिर भावसार मोहल्ला से भादौ बदी दूज 13 अगस्त को सुबह 9ः30 बजे पूजा-अर्चना, आरती के बाद शिवडोला प्रारंभ होगा। शिवडोला भावसार धर्मशाला, गणेश चौक, बावड़ी बस स्टैंड, डायवर्शन रोड, गायत्री मंदिर तिराहा, फव्वारा चौक बस स्टैंड, सोनी प्रतिमा तिराहा, बिस्टान रोड तिराहा, श्रीकृष्ण टाकीज चौराहा, पोस्ट आफिस चौराहा, गोल बिल्डिंग, सराफा बाजार, झंडा चौक होते हुए पुनः सिद्धनाथ महादेव मंदिर पहुंचेगा। आरती के बाद शिवडोले का समापन होगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close