लीड----

-अगर जमीन मिल गई मिर्च और अनाज मंडी होगी साथ-साथ-

खरगोन। नईदुनिया प्रतिनिधि

सनावद रोड पर जिला मुख्यालय से 7 किमी दूर बलवाड़ी में निर्माणाधीन अतिरिक्त मंडी प्रांगण में ही कृषि उपज मंडी को स्थानांतरित किया जा सकता है। इसके लिए मंडी प्रबंधन ने 14 हेक्टेयर अतिरिक्त जमीन की मांग की है। सब कुछ ठीक रहा तो बलवाड़ी में ही मुख्य मंडी विकसित की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान में खरगोन के बिस्टान रोड पर कृषि उपज मंडी संचालित की जा रही है। करीब 17 एकड़ में बनी इस मंडी को स्थान की कमी के कारण अन्यत्र स्थानांतरित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। बलवाड़ी में अतिरिक्त मंडी प्रांगण निर्माणाधीन है जहां मिर्च मंडी लगना प्रस्तावित है। फिलहाल खरगोन मुख्यालय पर कृषि उपज मंडी और कपास मंडी प्रांगण है। बलवाड़ी में करीब 35 एकड़ जमीन पर 2015 से मंडी निर्माण की प्रक्रिया शुरू हुई। इसकी लागत करीब सात करोड़ रुपए है। प्रांगण में कार्यालय भवन, ओपन ऑक्शन प्लेटफॉर्म, कवर्ड ऑक्शन प्लेटफॉर्म, सुलभ शौचालय, कर्मचारी आवास, वाटर स्टैंड, रोड निर्माण, बाउंड्रीवॉल आदि निर्माण कार्य किए जा रहे हैं। यहां गड्ढे और ऊबड़-खाबड़ जमीन होने से इसे समतल करने में अधिक वक्त लग रहा है। अब तक करीब 40 प्रतिशत निर्माण पूरा हो चुका है।

सुनसान जगह लग रही मिर्च मंडी

वर्ष 2011 से खरगोन के पास डाबरिया फालिया में अव्यवस्थाओं के बीच मिर्च मंडी संचालित हो रही है। यहां सड़क, बिजली और पानी जैसी सुविधाएं तक किसानों और व्यापारियों को नहीं मिल पा रही हैं। सुनसान स्थान पर होने से सुरक्षा को लेकर भी व्यापारियों में चिंता बनी रहती है। यही वजह है बड़े व्यापारी यहां की बजाए धामनोद, बेड़िया सहित अन्य मंडियों का रुख कर रहे हैं। इसके पहले यहां देशभर के व्यापारी मिर्च खरीदने के लिए आते थे। यहां भी तत्कालीन विधायक बालकृष्ण पाटीदार ने मंडी की औपचारिक आधारशिला रख शुरुआत की थी। इसके बाद से ही यहां किसी ने सुध नहीं ली।

बॉक्स---

यूं चला मिर्च मंडी का सिलसिला

-2011 में हाट बाजार से डाबरिया फालिया में स्थानांतरित की गई मिर्च मंडी।

-2014 में तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मंडी के लिए की थी घोषणा।

-2014 में मंडी बोर्ड ने बलवाड़ी में शुरू की मंडी निर्माण की प्रक्रिया।

-2015 में राज्य कृषि विपणन बोर्ड ने मंडी निर्माण के लिए जारी किए टेंडर।

बलवाड़ी में 35 एकड़ भूमि पर अतिरिक्त मंडी प्रांगण निर्माणाधीन है। यहां मंडी के विस्तार के लिए 14 हेक्टेयर अतिरिक्त भूमि की मांग की गई है। खरगोन स्थित कृषि उपज मंडी का स्थानांतरण प्रस्तावित है। -रामवीर किरार, सचिव, कृषि उपज मंडी, खरगोन

-09केजीएन-51 व 52-बलवाड़ी में निर्माणाधीन अतिरिक्त मंडी प्रांगण।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket