खरगोन(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

श्राद्ध पक्ष के दौरान शाम को आंगन में संजा माता के गूंजते हुए गीत मन मोहने वाले होते है। दीवारों पर गोबर से बनाई हुई सुंदर आकृतियां लोककला का बेहतरीन उदाहरण है। लेकिन समय के साथ-साथ यह लोकपर्व लुप्त होते जा रहा है। संजा लोकपर्व एवं निमाड़ी बोली का संरक्षण हम सबकी जिम्मेदारी है। इसी उद्येश्य से शहर के भावसार मोहल्ला निवासी सागर महाजन, शिवांगी महाजन एवं शैफाली महाजन ने संजा निमाड़ की अनमोल धरोहर नामक पुस्तक लिखी है। इस पुस्तक में संजा माता की लगभग 20 आकृतियां, 25 लोकगीत, आरती आदि को संकलित किया है। इस पुस्तक के माध्यम से नई पीढ़ी को निमाड़ी संस्कृति एवं लोकपर्व से जोड़ने का प्रयास किया गया है। संजा माता कौन हैं, संजा माता कैसे बनाई जाती है, कैसे संजा माता की पूजा होती हैं, कैसे संजा माता को खाना खिलाया जाता है आदि बातों का इस पुस्तक में विस्तार पूर्वक वर्णन है।

बीमारियों की रोकथाम के लिए नपा अमले ने की साफ-सफाई

खरगोन। नगर में स्वच्छता और संक्रामक बीमारियों से निपटने के लिए नगर पालिका द्वारा विशेष सफाई अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को वार्ड आठ में नाली किनारे तथा जलजमाव वाले क्षेत्रों में कीनाशक पावडर का छिड़काव करवाया गया। साथ ही डेंगू और मलेरिया से बचाव के लिए आवश्यक नागरिकों बीमारियों के बचाव के लिए समझाइश तथा साफ-सफाई को लेकर शपथ दिलवाई जा रही है।नगर पालिका सीएमओ प्रियंका पटेल और स्वास्थ्य अधिकारी प्रकाश चिते ने बताया कि स्वच्छता पखवाड़ा अंतर्गत सफाई के साथ ही संक्रमण नियंत्रण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। 17 सितंबर से जारी अभियान अंतर्गत वार्ड 8 में सफाई और डेंगू पर प्रहार की जानकारी क्षेत्रवासियों को दी गई। मच्छरों को पनपने से रोकने के लिए घर और मोहल्ले में जलभराव रोकने की समझाइश दी गई। घरों व छत पर रखे गमले, पुराने टायर, बर्तन, कूलर आदि में पानी जमा नहीं होने दे। इसमें डेंगू के मच्छर पनपते है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local