-अक्टूबर में पिछले छह वर्षों का सबसे ज्यादा भाव

भीकनगांव। नईदुनिया न्यूज

कृषि उपज मंडी में शनिवार को दूसरे दिन भी कपास के भाव को लेकर किसानों का हंगामा हुआ। लगभग दो घंटे मंडी काम कामकाज बंद रहा। व्यापारियों और किसानों को समझाइश के बाद फिर नीलामी शुरू हुई। आंकड़े देखे जाए तो पिछले छह वर्षों में अक्टूबर का सबसे अधिक भाव इस बार 5900 रुपए प्रति क्विंटल मिला है।

कृषक आशिराम लच्छू रसगांगली, रामेश्वर अमनसिंह धनगांव व देवानंद चौधरी चितावत ने बताया कि वे दूर-दराज से उपज लेकर मंडी आते हैं परंतु यहां पर बैलगाड़ी के अलग भाव रहते हैं और वाहनों के अलग भाव रहते हैं। हमारा कपास भी वही है जो बैलगाड़ी में रहता है। फिर भी लगभग 800 से 1000 रुपए क्विंटल का फर्क आता है। इसलिए किसानों ने विरोध किया। व्यापारी रामस्वरूप अग्रवाल, निर्मल अग्रवाल, दिलीप जायसवाल, बसंत जैन व अमित जायसवाल ने बताया कि भीकनगांव मंडी उचित भाव, सही तौल व समय पर पेमेंट देने के कारण दूर-दूर से किसान आते हैं। पिछले दो दिनों से कुछ किसानों के कपास में नमी अधिक होने से कम भाव मिल रहा है। जिनका सूखा कपास है उन्हें 5500 से 5900 रुपए तक भाव मिल रहे हैं। व्यापारियों ने बाताया कि यदि किसान सूखा कपास लाता है तो उसका कपास अच्छे भाव से ही जाएगा। मंडी सचिव एमआर जमरे ने बताया कि शनिवार को हुए हंगामे के बाद किसान व व्यापारियों को समझाया गया और व्यापारियों की बैठक ली गई। इसमें किसानों को उचित दाम देने की बात कही है। भीकनगांव मंडी में खंडवा, बुरहानपुर, देवास, पंधाना, सनावद, बड़वाह सहित अन्य जगहों से कपास आता है।

पंजीयन में नहीं ले रहे रुचि

उधर, किसान समर्थन मूल्य पर उपज बेचने के लिए भी रुचि नहीं ले रहे हैं। भीकनगांव मंडी क्षेत्र में कपास का पंजीयन न के बराबर है। अब तक करीब 55 किसानों का ही पंजीयन हुआ है। सीसीआई के क्रय अधिकारी तुषायराय सोनवणे ने बताया कि 3 अक्टूबर से भीकनगांव मंडी सीसीआई खरीदी करने आई है। जिन किसानों का पंजीयन है उन्हीं किसानों का कपास निर्धारित मापदंडों के अनुसार खरीदा जाएगा। सीसीआई का भाव 5500 रुपए क्विंटल है। अब तक सहकारी समिति भीकनगांव में 7, अंदड़ 2 और कियोस्क के माध्यम से 46 किसानों ने पंजीयन कराया है।

मंडी में 1 से 12 अक्टूबर तक मिला अधिकतम भाव

2013 4600 प्रति क्विटल

2014 4150 प्रति क्विटल

2015 4220 प्रति क्विटल

2016 4244 प्रति क्विटल

2017 4876 प्रति क्विटल

2018 5358 प्रति क्विटल

-12केजीएन-163-भीकनगांव में कृषि उपज मंडी में व्यापारियों से बात करते मंडी सचिव एमआर जमरे। -नईदुनिया

-12केजीएन-164-भीकनगांव में सीसीआई के क्रय अधिकारी से बात करते मंडी सचिव व व्यापारी। -नईदुनिया

-12केजीएन-165-भीकनगांव में समझाइश के बार नीलामी शुरू होने पर लगी किसानों की भीड़। -नईदुनिया

18 अक्टूबर से व्यापारी करेंगे हड़ताल

भीकनगांव। कॉटन एसोसिएशन लगातार कपास खरीदी पर मंडी शुल्क कम करने और ई-अनुज्ञा के सरलीकरण को लेकर शासन से मांग कर रह है। समस्या का निराकरण नहीं होने पर 18 अक्टूबर से अनिश्चकालीन हड़ताल की जाएगी। यह बात व्यापारी संघ अध्यक्ष बसंत जैन ने की। उन्होंने व्यापारियों के साथ इस संबंध में मंडी सचिव एमआर जमरे को ज्ञापन भी सौंपा। जैन ने बताया कि प्रदेश में लिया जा रहा मंडी टैक्स अन्य राज्यों की तुलना में तीन गुना तक अधिक है। इस मौके पर निर्मल अग्रवाल, दिलीप जायसवाल, रामस्वरूप अग्रवाल, अमित जायसवाल, ओम अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, राकेश अग्रवाल, यश जैन आदि मौजूद थे।