खरगोन(नईदुनिया प्रतिनिधि)

जिले में कलेक्टर के निर्देश के बाद विभागीय स्तर पर परामर्शदात्री समितियों की बैठकों का दौर शुरू हो गया है। विकासखंड स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक में बीइओ आरके सिंह कुशवाह की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई। जिसमें मान्यता प्राप्त शिक्षक संगठनों के पदाधिकारी मौजूद थे। मध्यप्रदेश शिक्षक संघ के ब्लाक अध्यक्ष मनोहर राठौड़ ने 12 वर्ष, 24 वर्ष और 30 वर्ष की क्रमोन्नाति सूची जारी करवाने की वरिष्ठ कार्यालय को प्रस्ताव भेजने की बात कही। साथ शिक्षक वर्ग को बीएलओ कार्य से मुक्त कर अन्य विभाग के कर्मचारियों को देने के लिए तथा शिक्षकों की सेवा पुस्तिका को अद्यतन करना, विकासखंड अंतर्गत सभी शिक्षकों को वार्षिक वेतन पर्ची उपलब्ध कराना, सभी शासकीय शालाओं के बिजली बिलों का भुगतान कार्यालय द्वारा किया जाना, कर्मचारियों द्वारा ग्रीष्मकालीन अवकाश में किये गए 27 दिन के लाभ पर भी चर्चा की गई।शासन के नियमों के अनुसार प्रति तीन माह में विभागीय परामर्शदात्री की बैठक भी रखी जाना चाहिए। जिन शिक्षकों के मेडिकल बिल लंबित हैं उनके भुगतान के लिए वरिष्ट कार्यालय को अवगत कराने की बात संगठन पदाधिकारियों ने रखी। बैठक में उठाए गए मुद्दे समस्यओं पर कार्यालय द्वारा की गई कार्रवाई से संग़ठन को समय सीमा में लिखित रूप में अवगत कराना। बैठक में अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के अध्यक्ष सुनील शर्मा, मध्यप्रदेश शिक्षक संघ के तहसील अध्यक्ष लक्ष्मीचंद मुकाती, नगरइकाई के पूर्व नगर अध्यक्ष सुनील ताम्रकर, ब्लाक के पूर्व कोषाध्यक्ष राधेश्याम पाटीदार साथ ही बीआरसी एमडी महाजन की उपस्थिति थे।

शिक्षकों की समस्याओं का हो शीघ्र निराकरण

गोगावां विकासखंड में शुक्रवार को विकासखंड स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक का आयोजन हुआ। जिसमें मध्यप्रदेश शिक्षक संघ ब्लाक अध्यक्ष शोभागसिंह निगवाल के साथ ब्लाक एवं तहसील इकाई के पदाधिकारियों ने विकासखंड शिक्षा अधिकारी राहुल पाद्धेय को विभिन्ना समस्याओं के समाधान के लिए एक पत्र सौंपा। जिसमें मप्र शिक्षक संघ द्वारा उठाई गई सभी मांगों के शीघ्र निराकरण का आश्वासन दिया गया।इस अवसर पर अपाक्स और शिक्षक संगठन आतिक खान, शिक्षक कांग्रेस के कय्यूम खान, जिला उपसचिव छगनलाल पाटीदार, ब्लाक कोषाध्यक्ष गोपाल राठौड़, तहसील उपाध्यक्ष रचना राठौड़, तहसील कोषाध्यक्ष दुर्गाप्रसाद जायसवाल, तहसील सचिव गजेन्द्रसिंह चौहान आदि उपस्थित थे।

पतंगबाजी में चाइना डोर के उपयोग पर रोक

खरगोन। जिले की सीमा में पतंग उड़ाने वाले शीशा युक्त मांजा (चाइना धागा) उपयोग से पक्षियों व व्यक्तियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पतंग उड़ाने में उपयोग किये जाने वाले चीनी मांजे के धागे पर प्रतिबंध लगाने संबंधी प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं। अपर कलेक्टर एसएस मुजाल्दा ने निर्देश जारी कर बताया कि चाइना धागे के उपयोग से पक्षियों के घायल होने तथा मृत्यु की घटना, साथ ही सड़क पर चलने वाले व्यक्तियों के भी घायल होने की संभावना रहती है। कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थान, मार्ग, मकानों की छतों पर पंतग उड़ाने के दौरान चायनीज मांजे का उपयोग नहीं करेगा। वहीं जिले के समस्त थोक व्यापारी, विक्रयकर्ता चायनीज मांजे का विक्रय नहीं करें। साथ ही पतंग उड़ाने में उपयोग किये जाने वाले प्लास्टिक, सिन्थेटिक मटेरियल से निर्मित चायनीज, नायलोन मांजे से पक्षियों एवं मानवों को होने वाले दुष्प्रभाव के कारण इसके उपयोग को प्रतिबंधित किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local