ऊन (नईदुनिया न्यूज)। ग्राम पिपरी से ऊन तक बिछाई जा रही पेयजल पाइप लाइन में विलंब से ग्रामीण आक्रोशित है। ग्रामीणों ने इसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।ग्राम के भीम गर्जना संगठन सहित ग्रामीणों ने मंगलवार की शाम सात बजे हस्ताक्षर अभियान चलाया। मुख्य बाजार और मोहल्लों में ग्रामीणों के हस्ताक्षर कराए गए। हस्ताक्षर के बाद कलेक्टर कार्यालय में ज्ञापन सौंपा जाएगा। संगठन के बबलू निर्वेल व पूर्व सरपंच मुकेश मंडलोई ने बताया पाइप लाइन डालने में देर होने के कारण आम जनता परेशान हो रही है। पानी के ग्रामीणों को इधर उधर भटकना पड़ रहा है। कार्य प्रारंभ करते समय 15 दिन में पूरा करने का आश्वासन दिया था। परंतु समय पर कार्य पूरा नहीं हो पाया। उल्लेखनीय है कि नईदुनिया ने ऊन के पेयजल संकट से जुड़े इस मुद्दे को सबसे पहले उठाया था। नईदुनिया द्वारा लगातार इस मुद्दे को लेकर खबरे प्रकाशित की जा रही है। इसके बाद इस कार्य में बरती जा रही ढील-पोल के खिलाफ लोगों के स्वर मुखर होने लगे हैं। संगठन ने काम को जल्द पूर्ण नहीं होने की स्थिति में आंदोलन की बात भी कही है।

फरवरी में शुरू किया था काम

ग्राम की पेयजल समस्या के निराकरण के लिए फरवरी माह में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग ने योजना बनाई थी। ग्राम पिपरी स्थित नर्मदा उद्वहन परियोजना के तालाब से नर्मदा जल ग्राम में लाने के लिए करीब आठ किमी की पाइप लाइन को स्वीकृति मिली थी। परंतु अब तक पाइप लाइन का कार्य पूरा नहीं हो पाया है। उल्लेखनीय है कि ग्राम में करीब 1600 घरों की आबादी है। हर साल गर्मी के दिनों में पेयजल संकट गहराता है। पानी की तलाश में लोग इधर-उधर भटकते हैं। हालात यहां तक बनते हैं की मजदूर परिवार के लोग अपने परिवार के एक सदस्य को पानी भरने के लिए घर छोड़ जाते हैं। इस वर्ष भी ग्रामीणों को पेयजल के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीण सुबह से ही पेयजल की व्यवस्था में जुट जाते हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close