- डेढ़ वर्ष पुराने मामले में न्यायालय ने सुनाया फै सला

खरगोन। नईदुनिया प्रतिनिधि

डेढ़ वर्ष पूर्व पुरानी बातों को लेकर पिता के साथ झगड़ा कर उनकी हत्या करने वाले पुत्र को न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी अमरेंद्र तिवारी ने बताया कि 6 जनवरी 2018 की रात्रि 10 बजे मांडवा भट्टी निवासी फरियादी राजू पिता डेडू ने थाना चैनपुर में आकर पुलिस को सूचना की दी कि उसके पिता डेडू घर पर सो रहे थे। इस दौरान भाई रमेश आया और पिता से पुरानी बातों को लेकर झगड़ा करने लगा। गुस्से में रमेश ने पिता डेडू के सिर पर कु ल्हाड़ी उठाकर मार दी, जिससे उनकी मौत हो गई। फरियादी राजू व उसकी मां रमलीबाई पहुंचे तो पिता डेडू खून में लथपथ पड़े थे। फरियादी की सूचना पर चैनपुर थाना पुलिस द्वारा घटनास्थल पर पहुंची। अपर सत्र एवं जिला न्यायाधीश भीकनगांव ने रमेश को धारा 302 में आजीवन कारावास और दो हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित कि या। अभियोजन की ओर से पैरवी सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी भीकनगांव गजानंद खन्ना ने की।

12के जीएन-57- आरोपित रमेश