Live Bharat Jodo Yatra: खरगोन, भीकनगांव, ओंकारेश्‍वर,इंदौर। (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भारत जोड़ो के नारे के साथ यात्रा पर निकले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को कोई राजनीतिक बयान नहीं दिया, लेकिन ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर के दर्शन और पूजन के साथ ही नर्मदा आरती भी की। धार्मिक रंग में रंगे राहुल ने बहन प्रियंका के साथ मां नर्मदा को चुनरी चढ़ाकर स्थानीय परंपरा का पालन भी किया और कांग्रेस के साफ्ट हिंदुत्व की ओर बढ़ते रुझान का संकेत भी दे दिया।

राहुल शुक्रवार सुबह खेरदा गांव से यात्रा प्रारम्भ कर शाम को मोरटक्का पहुंचे। दोपहर बाद यात्रा में भीड़ बढ़ी। मोरटक्का से वे सीधे ओंकारेश्वर आ गए। पूजन के पहले वे ब्रह्मपुरी घाट पहुंचे और मां नर्मदा की आरती में शामिल हुए।

फोटो : प्रफुल्‍ल चौर‍स‍िया आशु

भगवा उत्तरीय, गले में माला और पगड़ी पहने राहुल ने मंत्रोच्चार के बीच आरती शुरू की। राहुल के साथ बहन प्रियंका गांधी वाड्रा, उनके पति राबर्ट वाड्रा, बेटा रेहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ और प्रदेश प्रभारी जेपी अग्रवाल भी थे।

सिर पर तिलक सहित सभी विधिविधान के साथ पूजन किया। पूजन के पश्चात् मां रेवा को चुनरी भेंट कर पूजन किया। बाद में उन्होंने ज्योतिर्लिंग ओंकारेश्वर का दर्शन और पूजन किया।

राहुल ने ज्योतिर्लिंग के पूजन और मां नर्मदा की आरती में शामिल होकर साफ्ट हिंदुत्व की छवि को मजबूत किया। इससे पहले भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने जब प्रियंका गांधी वाड्रा इंदौर पहुंची थी तो उन्हें किसी ने माता की चुनरी भेंट की, जिसे उन्होंने सिर से लगाकर सम्मान के साथ गोद में रख लिया था। उनके पति राबर्ट वाड्रा भी महाकाल लिखी टीशर्ट पहने हुए थे।

पहली बार सबके साथ आरती की, मन प्रसन्न है

प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं पहली बार यहां आई हूं। यहां पूजन और नर्मदा आरती का अनुभव अद्भुत रहा। पहली बार हमने परिवार सहित नर्मदा आरती की है। मेरे साथ मेरे पति और भाई राहुल भी आरती में थे। यह खुशी की बात रही।

विकास की धूल के बीच जमीनी नेता का जतन

राहुल गांधी जब खंडवा रोड पर अपनी यात्रा लेकर आगे बढ़ रहे थे तो सड़क पर उड़ती धूल यात्रियों को असहज कर रही थी। साथ चल रहे राजनेता सहित सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी धूल से चेहरा बचाते नजर आए। मगर राहुल सहजभाव से चलते रहे। बहन प्रियंका भी साथ थीं। वे भी अविचलित थीं। इस बहाने इन्होंने यह संदेश देने का प्रयास किया कि वे भी जमीनी नेता हैं। हालांकि यह धूल खंडवा की ओर जाने वाले मार्ग पर बन रहे फोरलेन रोड के निर्माण के कारण उड़ रही थी।

राहुल ने यात्रा में किसी से चर्चा नहीं की, सिर्फ आगे बढ़ते रहे। उनके साथ बीच-बीच में लोग जुड़ते जाते थे। कुछ देर चलते और फिर कोई और आ जाता। बहन प्रियंका जरूर पूरे समय भाई के साथ कदम से कदम मिलाती रहीं। इस दौरान ओलिंपिक पदक विजेता मुक्केबाज विजेंदर सिंह, राबर्ट वाड्रा, योगेंद्र यादव जैसे कई नाम यात्रा में शामिल हुए। राहुल गांधी कि भारत जोड़ो यात्रा का आज मध्य प्रदेश में तीसरा दिन रहा।

गुरुवार रात ग्राम खेरदा में रात्रि विश्राम के बाद अपने अगले पड़ाव भानभरड़ की ओर निकली। यहां दोपहर को पहुंची और विश्राम किया। यहां से यात्रा दोपहर 3.30 बजे फिर से शुरू हुई। इसके पहले विश्राम स्थल पर कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता पहुंच चुके थे। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। ।भारत जोड़ो यात्रा के आगे बैंड चल रहा है । विश्राम के बाद यात्रा बांसवा गांव पहुंची। यात्रा को देखने के लिए ग्रामीण और महिलाएं घर की छत पर खड़े नजर आए।

Live Bharat Jodo Yatra: मध्य प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा का तीसरा दिन, राहुल गांधी नर्मदा आरती के लिए ओंकारेश्‍वर पहुंचे

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने ओंकारेश्वर के ब्रम्हपुरी घाट पर मां नर्मदा की आरती की। इसके लिए घाट पर कालीन बिछाने के साथ ही आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की गई । नर्मदा आरती के बाद वे ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर में दर्शनार्थ पहुंचे।

ब्रम्हपुरी घाट पर कड़ी सुरक्षा जांच के बाद पंडित, पुजारी, कांग्रेस नेता और अन्य सूचीबद्ध लोगों को कड़ी जांच के बाद एसपीजी द्वारा प्रवेश दिया गया। ब्रम्हपुरी घाट पर राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा को नर्मदा पूजन और आरती पांच पंडितों द्वारा करवाई गई। मां नर्मदा की आरती के लिए विशेष प्रबंध किए गए। आरती कराने के लिए पंडितों का पूरा समूह भी तैयार रहा।

ओंकारेश्वर में राहुल गांधी की यात्रा को देखते हुए ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर पर आकर्षक रोशनी के साथ ही ओंकारेश्वर बांध पर तिरंगा रोशनी की गई ।

ओंकारेश्वर में नर्मदा पूजन के लिए राहुल गांधी के लिए ब्रम्हपुरी सजाया गया। यहां सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्थाएं की गई । राहुल गांधी सनावद तक पदयात्रा के बाद कार से ओंकारेश्वर पहुंचे। यहां नर्मदा मां का पूजन और आरती उपरांत वे ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने नए झूला पुल से गए। इस दौरान झूला पुल से आम लोगों की आवाजाही और मंदिर में प्रवेश प्रतिबंधित रहा।

सुरक्षा की दृष्टि से ब्रम्हपुरी घाट पर आम लोगों का प्रवेश प्रतिबंधित करने के साथ ही सभी घाट को खाली करवा दिया गया ।

इससे पहले विश्राम स्थल पर कार्यकर्ताओं की काफी भीड़ इकट्ठा हो गई थी। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह कार्यकर्ताओ की भीड़ को नियंत्रित करने के लिए खुद उन्हें पीछे धकेलते नजर आये। वे जोर से चिल्लाते हुए कार्यकर्ताओं को पीछे हटने के लिए कह रहे थे। कुछ को धक्का देकर पीछे हटाया।

राहुल गांधी की यात्रा में शामिल होने के लिए योगेंद्र यादव के साथ ही पूर्व ओलिंपियन मुक्केबाज विजेंदर सिंह भी पहुंचे हैं। विजेंदर ओलंपिक की मुक्केबाजी स्पर्धा में पदक जीतने वाले देश के पहले खिलाड़ी हैं। विजेंदर ने 2008 के बीजिंग ओलिम्पिक में कांस्य पदक जीता था।

महाराष्ट्र से बुलाया लोक कलाकारों का दल

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा शुक्रवार को दिन के विश्राम के बाद दोपहर 3:30 बजे से भानभरड़ गांव से प्रारंभ होगी। यात्रा में शामिल होने के लिए नंदुरबार, महाराष्ट्र से लोकनृत्य कलाकारों का दल बुलवाया गया है। इसमें 400 कलाकार शामिल हैं। विश्राम स्थल पर कलाकारों ने अपनी प्रस्तुति दी।

इंदौर इच्छापुर हाईवे से होते हुए राहुल गांधी का काफिला शुक्रवार सुबह करीब 9:15 बजे भानभरड़ पहुंच चुका हैं। दोपहर के खाने और आराम की व्यवस्था की गई है। खेत में 20000 वर्ग फीट में टेंट लगाया गया है। बड़ी संख्या में कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता यहां भोजन करेंगे।

शुक्रवार को सुबह 9:00 बजे तक राहुल की यात्रा 7 किलोमीटर आगे बढ़ चुकी थी। टी ब्रेक के बाद बेडियाव खुर्द गांव से आगे यात्रियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच विवाद की स्थिति बनी। विवाद राहुल गांधी से मिलने को लेकर किया जा रहा था।

ग्राम खेरदा से यात्रा सुबह 6.15 बजे खरगोन की ओर निकली है राहुल के साथ प्रियंका गांधी भी मौजूद है। काफिला खेरदा से आधा किलोमीटर दूर तक कार से निकला।

इसके बाद भान भरड़ के लिए पैदल यात्रा शुरू हुई है। ठंड के बावजूद राहुल गांधी की अगवानी के लिए सड़क के दोनों ओर सुबह से ही लोग जमा हो गए थे।

शुक्रवार सुबह 6:00 बजे ग्राम खेरदा से निकलकर राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा दोडवा तक पहुंची है। पदयात्रा सुबह करीब 10:00 बजे भान भरड़ पहुंचेगी। हिंदुस्तान बायोडीजल पेट्रोल पंप के सामने विराम की व्यवस्था की गई है। यहां लंच के बाद यात्रा दोपहर करीब 3:30 बजे भान भरड से सनावद के लिए निकलेगी। शाम करीब 6:30 बजे यात्रा सनावद बस स्टैंड पर पहुंचेगी। यहां राहुल गांधी सभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद यात्रा मोरटक्का के लिए रवाना होगी। वैष्णव होटल के पास शाम की व्यवस्था की गई है।

राहुल गांधी की यात्रा के साथ बड़ी संख्या मैं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों से लोग भी शामिल हो चुके हैं और काफिला बड़ा होता जा रहा है, भारत जोड़ो-भारत जोड़ो के नारे लगाते हुए यात्रा के साथ चल रहे हैं।

राहुल गांधी की यात्रा के दौरान एक खेत में अचानक पैराग्लाइडर गिर पड़ा जिससे भगदड़ मचते-मचते बच गई। खरगोन पुलिस को बगैर बताए यात्रा के समर्थन में पैरामोटरिंग की जा रही थी। इसके बाद पुलिस ने तुरंत इस पर रोक लगा दी है।

भान भरड़ में यात्रा रुकी थी। यहां पर विश्राम के साथ चाय-नाश्ते की व्यवस्था की गई थी। यहां पंडाल लगाए गए हैं। सुरक्षाकर्मियों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है।

भान भरड़ में रुकी यात्रा के दौरान पंडालों में आराम फरमाते हुए कांग्रेसी।

अपने-अपने गुटों के लोगों के साथ फोटो खिंचवाते कॉन्ग्रेस नेता व कार्यकर्ता।

Posted By: Sameer Deshpande

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close