-नईदुनिया की खबर के बाद पहुंची टीम

सनावद। नईदुनिया न्यूज

नगर की गोपाल गोशाला में गायों की दुर्दशा पर नईदुनिया ने पिछले दिनों खबर प्रकाशित की थी। शासन ने संज्ञान लेकर पशुपालन विभाग का दल शनिवार को गोशाला पहुंचा और चिकित्सा उपलब्ध करवाई। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों एक कंटेनर से बरामद गोवंश में कई नंदी और गाय बुरी तरह से घायल थे, लेकिन गोशाला संचालक सत्यनारायण गोयल ने घायल गोवंश की चिकित्सा और चारे-पानी की व्यवस्था नहीं की। इस कारण कई गायों और नंदी के घावों में सड़न लग गई थी। संचालक गोयल की लापरवाही और गोवंश की दुर्दशा के बारे में नईदुनिया ने प्रमुखता के साथ खबर प्रकाशित की थी। शनिवार को गोशाला पहुंचे पशुपालन विभाग के दल में विस्तार पशुपालन अधिकारी डॉ. सुरेश बघेल, सनावद के डॉ. राजेश प्रधान, फिल्ड आफिसर राधेश्याम बिरले, रेवाराम बड़ोले, राजेंद्र दांगोड़े शामिल थे। डॉ. प्रधान ने बताया कि घायल गोवंश की सुबह और शाम को जांच के लिए पशु चिकित्सालय के तीन कर्मी आरएस मालाकार, आरएस वर्मा, एमके चांदोरा को अधिकृत किया गया है। घायल गोवंश का इलाज जारी है। घायल नंदी का भी उपचार किया गया।

भूख के कारण हो चुकी है गायों की मृत्यु

चिकित्सा दल ने बताया कि उपचार के लिए गोशाला समिति की ओर से कोई सहयोग नहीं मिल रहा है। गोशाला में एक ही कर्मचारी है। पशुओं को पकड़ने के लिए कर्मचारियों की आवश्यकता पड़ती है। हमारा स्टाफ तो पूरी मेहनत के साथ उपचार कर रहा है। उल्लेखनीय है कि गोशाला में गोवंश पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। गायों की भूख से मृत्यु भी हो चुकी है। बजरंग दल के पूर्व जिला संयोजक सतीश इंगले ने बताया कि कुछ दिन पूर्व गोशाला में नगर पालिका प्रशासन ने भी गाय छोड़ी थी। लेकिन उन गायों का पता नहीं है। गोशाला समिति के खिलाफ पूर्व में भी नगर में धरना देकर आंदोलन किया गया था। गोशाला समिति की लापरवाही पर नगर में आक्रोश है। पिछले दिनों विधायक सचिन बिरला ने भी गोशाला का निरीक्षण किया था और गोवंश की दुर्दशा पर दुख जताया था। नागरिकों ने जनप्रतिनिधियों और मप्र शासन से मांग की है कि गोशाला का संचालन अपने हाथों में लेकर नई संचालन समिति का गठन किया जाए। गौरतलब है कि गोशाला की करोड़ों की संपत्ति होने के बावजूद वर्षों से गोशाला में गाएं भूख, प्यास और बीमारी से दम तोड़ रही हैं।

-12केजीएन-162-सनावद में गोशाला में गाय का इलाज करते हुए डॉक्टर व कर्मचारी। -नईदुनिया