-सिगनूर में राजस्व अमले ने बनाया पंचनामा

बमनाला। नईदुनिया न्यूज

क्षेत्र के गांव शकरखेड़ी, दगड़खेड़ी और सिगनूर में भूगर्भीय हलचल के मामले में शनिवार को राजस्व विभाग के अधिकारी पहुंचे। उन्होंने मौका मुआयना कर ग्रामीणों से चर्चा की। पंचनामा बनाकर जांच के लिए भू-वैज्ञानिकों को बुलाने का आश्वासन दिया।

उल्लेखनीय है कि ग्रामीणों के अनुसार दो दिन से झटके महसूस हो रहे हैं। तीनों गांवों की आबादी मिलाकर करीब पांच हजार है। गोगावां के राजस्व निरीक्षक केएस जाधव ने बताया कि सिगनूर में देवाड़ा फालिया, जमरा फालिया में पंचनामा बनाया गया है। ग्राम के सुनील पिता भगवान, सूरजसिंह पिता चंदासिंह, हेमंत पिता श्यामलाल आदि ने बताया कि 11 अक्टूबर की रात 8.30 बजे कंपन के साथ आवाज सुनाई दी। छत के टीन हिलने लगे। सतत तीन बार यह आवाज सुनाई दी। इसके बाद इस प्रकार की कोई घटना नहीं हुई। घटना के दो दिन पहले भी शाम और सुबह के समय कंपन महसूस किया गया था। ग्रामीणों से बात कर पंचनामा बनाया गया है। पंचनामे को वरिष्ठ अधिकारी को भेजा जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों की मांग पर भू वैज्ञानिकों को भी जांच के लिए बुलाने का आश्वासन दिया। इस मौके पर उपसरपंच कमलसिंह चावला, पटवारी रणजीत पाटीदार, ग्राम पंचायत सिगनूर के सचिव रमेश टटवाड़े, सहायक सचिव विमल खतवासे, ग्राम पंचायत सोलना के सचिव भगवान डावर आदि मौजूद थे।

-12केजीएन-167 व 168-ग्राम सिगनूर में जांच करते राजस्व निरीक्षक केएस जाधव। -नईदुनिया

शौचालय और आवास के लिए परिषद के चक्कर काट रहा बुजुर्ग

कसरावद। नईदुनिया न्यूज

शासन द्वारा घर-घर शौचालय व गरीबों के आवास की योजना चलाई है। गरीबी रेखा में होने के बावजूद इन योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। यह आरोप वार्ड क्रमांक पांच के निवासी गजानंद पिता तुलसीराम पाटीदार ने लगाए। उन्होंने एसडीएम के नाम शिकायती आवेदन भी सौंपा है। पाटीदार ने बताया कि वे गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करते हैं। नगर परिषद में शौचालय व प्रधानमंत्री आवास योजना में मकान निर्माण के लिए आवेदन किया है। परंतु कुछ कर्मचारियों ने उनके बाद आवेदन करने वाले लोगों से रिश्वत लेकर योजनाओं का लाभ दिया गया। नगर परिषद में बार-बार चक्कर लगाने के बावजूद उन्हें शौचालय व आवास योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने योजनाओं का लाभ दिलाकर लापरवाह कर्मचारियों पर कार्रवाई की मांग की। इस संबंध में नगर परिषद सीएमओ प्रियंक पंड्या ने बताया कि शिकायत मिलने पर जांच कीज जाएगी। यदि कोई भी प्रधानमंत्री आवास योजना या अन्य शासकीय कार्य के लिए रिश्वत की मांग करता है तो उसकी तुरंत शिकायत कार्यालय को करें।

-12केजीएन-169-कसरावद में आवेदक गजानंद पाटीदार आवेदन दिखाते हुए। -नईदुनिया