*अवैध कालोनी के फेर में विकास की बाट जोह रहे वार्ड क्रमांक तीन व चार के वासी

*अब भी लकड़ी के खंबों पर दिखाई दे रहे हैं विद्युत तार

वार्ड क्रमांक तीन व चार

खरगोन के वार्ड क्रमांक तीन व चार की पहचान शिक्षा संस्थानों व पाश कालोनियों से है। बावजूद इसके इन वार्डों में विभिन्ना कालोनियों में विकास की गंगा नहीं पहुंच पाई है। शहर की सबसे शुरुआती पाश कालोनियों में गिनी जाती है। बावजूद इसके इस क्षेत्र में कच्चे रास्ते, नालियों, सफाई व प्रकाश व्यवस्था का अभाव विकास की पोल खोल रहे हैं। उल्लेखनीय है कि गत दिनों वार्ड क्रमांक चार की करीब सात कालोनियों के नागरिकों ने आंदोलन कर विकास कार्य ना किए जाने पर नगर पालिका चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी थी। इन दो वार्डों के विकास में सबसे बड़ी बाधा अवैध कालोनियां हैं।

----

खरगोन (नईदुनिया प्रतिनिधि)। विकास के दावों की जमीनी हकीकत जानने के दौरान शहर के वार्ड क्रमांक तीन व वार्ड क्रमांक चार में नईदुनिया ने रहवासियों से बात की। वार्ड क्रमांक तीन में मांगरूल रोड, बीटीआई रोड पर कई शैक्षणिक संस्थाएं, कालेज हैं। इससे इस क्षेत्र को शिक्षण संस्थाओं का हब माना जाता है। इस वार्ड में कई छोटी-छोटी कालोनियां शामिल हैं। साकेत नगर, बैंक कालोनी, वल्लभ नगर, आशाधाम, हिंगलाज नगर आदि शामिल है। इस बार नपा चुनाव के लिए यह वार्ड अनारक्षित महिला के लिए आरक्षित हुआ है।

वार्ड तीन के आशाधाम, हिंगलाल नगर, अंबिका नगर, विकास के मामले में ज्यादा पिछड़े नजर आते हैं। आशाधाम में जहां, बिजली, पानी, सफाई व्यवस्था तो है, लेकिन यहां बिजली के पोल पर झुलते 11 केवी तार, सीवरेज, जल आवर्धन योजना में खोदाई से परेशानी और बगीचे को विकसित नहीं किया जाना, रहवासियों के लिए समस्या बना हुआ है। इसी तरह हिंगलाज नगर में न तो बिजली है, न ही पानी, नाली, सड़क। यह अवैध कालोनियों में शामिल होने से विकास के मामले में पिछड़ी बस्ती है। इसी तरह वार्ड चार अनारक्षित वार्ड है। इसमें सर्किट हाउस, गौरीधाम, अवनिग्राम, ईश्वरीय नगर, वल्लभकुंज, श्रीनाथ कालोनी, बालाजी कालोनी जैसी पाश कालोनियों के साथ कृष्णा नगर शामिल हैं। वार्ड तीन में चार बूथों पर करीब तीन हजार 50 मतदाता नगर सरकार में पार्षद के रूप में अपना प्रतिनिधि भेजते हैं, जबकि वार्ड चार में तीन बूथों पर करीब दो हजार 700 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करते हैं।

---

ये पब्लिक है...

हम अंबिका नगर में पिछले सात वर्ष से कालोनी के मुख्य मार्ग सहित तीन गलियों में सीसी रोड निर्माण की मांग कर रहे हैं, जो अब तक पूरी नहीं हुई। इस ओर जिम्मेदारों का ध्यान नहीं है। -जगन्नााथ मंडलोई

क्षेत्र में सड़क के अभाव के साथ सूअरों की बढ़ती संख्या परेशानी का सबब बनी हुई है। समुचित सफाई नहीं होने से सूअरों की संख्या बढ़ी है। ध्यान न दिया जाए तो सूअर घरों में घुस जाते हैं। -दिलीप पाटीदार

आशाधाम कालोनी में बिजली के पोल पर लगे 11 केव्ही तार महज आठ फीट की ऊंचाई पर लटक रहे हैं। इससे यहां आए दिन हादसे होते रहते हैं। कई बार शिकायत की लेकिन समस्या हल नहीं हुई। -निर्मल पाटीदार

क्षेत्र में 10 साल से सड़क निर्माण की मांग कर रहे हैं। यहां की सड़क कपास मंडी को भी जोड़ती है, इससे इस मार्ग का मांगरुल रोड़ के कृषकों सहित ग्राम मांगरूल के कृषक भी इस्तेमाल करते हैं। दिनभर आवाजाही बनी रहती है। सीवरेज और जल आवर्धन की खोदाई के बाद हालत और बिगड़ गई है। -मोहित सोलंकी

हिंग्लाज नगर में अस्थायी मीटरों से घरों तक बिजली पहुचं रही है। विकास के नाम पर न तो सड़क बनी न ही नाली, न ही स्ट्रीट लाइट है। अवैध कालोनी के फेर में कोई सुनवाई नहीं कर रहा जबकि जनभागीदारी को रहवासी तैयार हैं। -कमल मंडलोई

गौरीधाम कालोनी में सबसे बड़ी समस्या साफ-सफाई की है। यहां पर नगर पालिका द्वारा कई दिनों तक सफाई नहीं की जाती है। हालांकि डोर टू डोर कचरा वाहन पहुंच रहा है, फिर भी आसपास गंदगी फैल रही है और दुर्गंध भी आती है। -संगीता बड़ोले

गौरीधाम कालोनी में मुख्य समस्याओं में एक ड्रेनेज की समस्या है। यहां पर नगर पालिका द्वारा नालियों की निकासी नहीं की जा रही है, इससे बारिश के दिनों में नाले का पानी घरों में घुसने लगता है। वहीं सीवरेज योजना की जो पाइपलाइन को ड्रेनेज के पाइपों से गलत तरीके से जोड़ दिया गया है। लेवल नहीं होने के कारण उसका भी पानी घरों में वापस घुस रहा है, इससे रहवासी परेशान हैं। -मनीष जोशी

करीब 30 साल से नपा के समस्त कर जमा किए जा रहे हैं। बावजूद सड़क निर्माण की मांग पूरी नहीं की जा रही। शहर की पाश कालोनियों में शुमार अवनिग्राम, कृष्णकुंज, वल्लभकुंज, श्रीनाथ कालोनी, बालाजी कालोनी, शिवप्रिया कालोनी आदि के रहवासी सड़क का निर्माण न होने से परेशान हैं। -विकास बड़ोले

---

नेता बोले...

वार्ड में पूरे पांच साल नागरिकों से सतत संपर्क में रहे हैं। किसी की कोई भी समस्या हो, खुद खड़े रहकर हल करवाई है। वार्ड में सड़क, नालियों, विद्युत पोल के कार्य किए हैं। करीब पांच उद्यानों को विकसित करने उनकी बाउंड्रीवाल बनवाई है। जिन कालोनियों में 15 साल से विद्युत पोल नहीं पहुंचे थे, वहां पोल लगवाए हैं। -लोकेश भावसार, पूर्व पार्षद वार्ड क्रमांक तीन

वार्ड के अंतर्गत चमेली की बाड़ी के बड़ा नाला कच्चा था, इसका पक्का निर्माण करवाया गया है। कालोनियों में पेयजल लाइन, नालियों, सड़क निर्माण आदि कार्य करवाए हैं। सफाई को लेकर भी लगातार ध्यान रखा है। गौरीधाम कालोनी में कोई मूलभूत सुविधा नहीं थी, वहां सड़क, पानी, प्रकाश व्यवस्था आदि कार्य करवाए हैं। -पायल पवन सेन, पूर्व पार्षद वार्ड क्रमांक चार

सभी वार्डों में विकास कार्य हुए हैं। अवैध कालोनियों की कुछ समस्याएं हैं। वहीं जलावर्धन या सीवरेज प्रोजेक्ट का कार्य चल रहा है, यदि कोई समस्या है तो इसे दिखवाया जाएगा। -प्रियंका पटेल, सीएमओ खरगोन

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close