मंडला, नईदुनिया प्रतिनिधि। छत्तीसगढ़ के जंगलों से जिले के सीमा में प्रवेश कर चुके हाथियों के एक दल ने खेत की रखवाली कर रहे किसान की जान ले ली। बताया गया है किसान रात के समय खेत में मचान लगाकर खेत की रखवाली कर रहा था। वहां से गुजर रहे जंगली हाथियों के झुंड ने उस पर हमला बोल दिया। किसान की मौत की सूचना मिलने के साथ ही वन विभाग के अधिकारी हरकत में आए। एक बार फिर वह समय रहते ग्रामीणों को आगाह करने तथा इस तरह की अप्रिय घटना से निपटने के लिए फोर्स कार योजना बनाने की बात करते नजर आ रहे हैं। जबकि आसपास के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार मोबाइल क्षेत्र में पदस्थ एसडीओ रेंजर सहित अन्य अधिकारियों ने ग्रामीणों को इस बात की सूचना नहीं दी थी कि आसपास जंगली हाथियों की मौजूदगी बनी हुई है।

क्या है मामला

मिली जानकारी में बताया गया है कि रविवार सोमवार की दरमियानी रात दल्लू सिंह यादव पिता डगरु यादव निवासी सठिया खेत की रखवाली कर रहा था, उसी समय जंगली हाथी उसके खेत में आ पहुंचे। दल्लू लगातार हाथियों को खेत से भगाने का प्रयास कर रहा था, लेकिन इसी भी एक नर हाथी ने उसे मचान से खींच कर जमीन पर दे मारा हाथी के हमले में दल्लू की जान चली गई।

परिक्षेत्र का होगा घेराव

मिली जानकारी में बताया गया है कि उक्त घटना से ग्रामीण आक्रोशित हैं उनके द्वारा वन परीक्षेत्र का घेराव किए जाने की भी सूचना प्राप्त हो रही है। हालांकि इस संबंध में जब पूर्व क्षेत्र के डीएफओ पुनीत गोयल से बात की गई उन्होंने घटना की जानकारी लेकर बताने की बात कही है।

करते रहे इंकार

मोबाइल क्षेत्र में जंगली हाथियों की गतिविधियां बनी हुई है, इसकी जानकारी लगातार विभिन्न संगठनों व लोगों द्वारा वन विभाग से ली जाती रही, लेकिन लगातार वन विभाग इस बात को सिरे से खारिज करता रहा कि मवई क्षेत्र में जंगली हाथियों की गतिविधियां बनी हुई हैं। साथ ही वन विभाग ने आसपास के लोगों को हाथियों से सतर्क रहने की सलाह नहीं दी है, जिसके कारण घटना हुई।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close