जिला स्तरीय वनाधिकार समिति की बैठक हुई

10एमडीएल10 मंडला। जिला स्तरीय वनाधिकार समिति की बैठक लेते हुए कलेक्टर।

मंडला (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर हर्षिका सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय वनाधिकार समिति की बैठक हुई। बैठक में 334 वनाधिकार दावों पर चर्चा की गई जिनमें जिला स्तरीय समिति द्वारा 172 दावे मान्य किए गए। इस प्रकार अब तक जिला स्तरीय समिति द्वारा कुल 556 वनाधिकार प्रकरणों को मान्य किया गया। बैठक में अपर कलेक्टर मीना मसराम तथा वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से डीएफओए सहायक आयुक्त आदिवासी विकास, एसडीएम सीईओ जनपद तथा संबंधित अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर ने अपर्याप्त साक्ष्य एवं भूमि पर काबिज नहीं होने संबंधित प्रकरणों की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने कहा कि भूमि पर काबिज नहीं होने से संबंधित प्रकरणों में अपात्रता के अन्य कारण भी पुख्ता रखें। उन्होंने जिले के आदिवासी वर्ग के निरस्त दावे पर ग्रामवार चर्चा की। कलेक्टर ने एफआरसी स्तर पर निरस्त किए गए वनाधिकार दावे की अनुविभागवार समीक्षा भी की। उन्होंने जिला स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत मान्य किए जाने वाले प्रकरणों का परीक्षण किया। कलेटर हर्षिका सिंह ने एसडीएम निवास से चुटका परियोजना के दावे संबंधी प्रकरण पर चर्चा करते हुए जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने परियोजना से संबंधित प्रकरणों का मैदानी निरीक्षण करने के पश्चात संपूर्ण जानकारी भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने दोहरे आवेदनों की समीक्षा करते हुए वर्तमान दावे के वास्तविक तथ्यों की जांच सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि साक्ष्य के अभाव में कोई भी प्रकरण लंबित न रहे। कलेक्टर ने बैठक में विकासखंडवार प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने सभी सीईओ जनपद को निर्देशित किया कि अपने क्षेत्र के लंबित दावे एवं सत्यापन का कार्य शीघ्र पूर्ण करें।

कंटेनमेंट क्षेत्र की व्यवस्थाएं सुदृढ़ रखें, नियमों का सख्ती से पालन कराएं: हर्षिका सिंह

होम क्वारंटाइन किए जाने वाले व्यक्तियों से होम क्वारंटाइन के पालन संबंधी प्रमाण पत्र लिया जाएगा

राजस्व अधिकारियों एवं सीईओ जनपद की बैठक में निर्देश

मंडला (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर हर्षिका सिंह ने राजस्व अधिकारियों एवं सभी सीईओ जनपद की बैठक ली। बैठक में उन्होंने सभी एसडीएम से उनके क्षेत्र में सक्रिय कंटेनमेंट क्षेत्रों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट क्षेत्र की व्यवस्थाएं सुदृढ़ रखें। कंटेनमेंट क्षेत्र में नियमों का सख्ती से पालन कराएं। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्र में जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कंटेनमेंट क्षेत्र में राशनए पानी आदि वितरण कराते समय कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जारी दिशा निर्देशों का पालन करने की बात कही। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट क्षेत्र में निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराने पुलिस का भी सहयोग लें। पुलिस द्वारा समय समय पर कंटेनमेंट क्षेत्र में पेट्रोलिंग भी की जाए। कलेक्टर ने कहा कि सभी एसडीएम अपने क्षेत्र के कंटेनमेंट क्षेत्र का प्रतिदिन दौरा सुनिश्चित करेंगे।

स्वास्थ्य सर्वे कराया जाए

बैठक में कलेक्टर ने कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद उस क्षेत्र में गहन स्वास्थ्य सर्वे सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में 3 बार स्वास्थ्य सर्वे कराएं। कलेक्टर ने सभी एसडीएम को कंटेनमेंट क्षेत्र में जरूरी व्यवस्थाओं के साथ साथ आकस्मिक फोन नंबर की व्यवस्था भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि कंटेनमेंट क्षेत्र की समस्याओं की जानकारी मिल सके। उन्होंने अनुविभागवार कंट्रोल रूम स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अनुविभागवार स्थापित होने वाले कंट्रोल रूम में उस क्षेत्र की समस्त पंचायतें में होम क्वारेंटाईन की संख्या तथा कोरोना जांच के लिए लिए गए सेम्पलों की जानकारी होना चाहिए। इसी प्रकार कंट्रोल रूम से समय समय पर किसी भी पंचायत के होम क्वारंटाइन परिवारों की जानकारी ली जा सकती है।

कलेक्टर ने सभी अधिकारियों को अपने क्षेत्र में कोविड केयर सेंटर एवं इन्स्टीट्यूशनल क्वारंटाइन सेंटर के लिए व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि उक्त दोनों सेंटरों के लिए चिन्हित किए जाने वाले भवनों में पानी, बिजली तथा सड़क पहुंच मार्ग की व्यवस्था पुख्ता रखें। इसी प्रकार साफ सफाई, शौचालय तथा अन्य व्यवस्थाएं भी तैयार रखें। कलेक्टर ने जानकारी देते हुए बताया कि आगामी दिनों में होम क्वारंटाइन किए जाने वाले व्यक्तियों से होम क्वारंटाइन के पालन संबंधी प्रमाण पत्र लिया जाएगा ताकि ऐसे व्यक्ति सेंपल देने के बाद या होम क्वारंटाइन की अवधि में अनावश्यक बाहर न निकल सके। उन्होंने सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र में होम क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वालों पर जुर्माने की कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

जन्माष्टमी पर बाजारों में भीड़ न हो

कलेक्टर ने सभी एसडीएम और सीईओ जनपद को निर्देशित किया कि आगामी जन्माष्टमी त्यौहार के अवसर पर उनके क्षेत्र के मंदिरों एवं बाजारों में अनावश्यक भीड़ न हो। अधिकारी अपने क्षेत्र के मंदिरों के पुजारियों एवं दुकानदारों से चर्चा कर समझाईश देंगे। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी दुकानदारों को निर्देश दे कि बिना मॉस्क वाले लोगों को सामान न दें तथा दुकानों में सोशल डिस्टेसिंग का कड़ाई से पालन कराएं। कलेक्टर ने दुकानदारों को मॉस्क एवं फिजिकल डिस्टेसिंग के पालन की जानकारी देने वाले फ्लेक्श, बैनर लगाने के निर्देश दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020