मंडला। नईदुनिया प्रतिनिधि। Madhya Pradesh News मंडला कलेक्टर जगदीश चंद्र जटिया ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल पर कमेंट करते हुए लिखा है कि वे सीएए व एनआरसी का सपोर्ट नहीं करते। इस पर अब विवाद खड़ा हो गया है। माना जा रहा है कि कानून बन जाने के बाद लोकसेवक रहते हुए इस तरह की टिप्पणी नहीं की जा सकती। हालांकि विवाद बढ़ता देख कलेक्टर ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल से संबंधित पोस्ट हटा ली है।

छपाक फिल्म के पोस्ट को फेसबुक पर डाला और लिखा हम देखेंगे छपाक

कलेक्टर जगदीश चंद्र जटिया ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल पर फिल्म का पोस्टर अपलोड किया है और लिखा कि तुम चाहे जितनी घृणा करो, हम देखेंगे छपाक। इसके बाद उनके मित्रों ने अपनी टिप्पणी देना शुरू कर दिया। उसी क्रम में अपने एक मित्र को उन्होंने जवाब देते हुए फेसबुक पर लिखा कि उन्हें अपने विवेक का इस्तेमाल करना आता है वे सीएए, एनआरसी का सपोर्ट नहीं करते। इसके लिए मारापीटी टीवी पर ही देखी है।

जवाब देते हुए सीएए का सपोर्ट नहीं करने की बात कही

दरअसल कलेक्टर जटिया द्वारा अपलोड किए गए छपाक फिल्म पोस्टर के बाद उनके मित्र भी फेसबुक पर अपने कमेंट कर रहे थे। एक मित्र ने लिखा कि जेएनयू के लोग जो सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं और कुछ अभिनेता उनका समर्थन। क्या यह सही है, जो मारापीटी है उसकी जांच सही तरीके से होना चाहिए क्योंकि इसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के भी कार्यकर्ता घायल हैं। लेकिन उनका कोई सपोर्ट नहीं कर रहा है। जिसका जवाब देते हुए हुए कलेक्टर जटिया ने लिखा कि मुझे अपने विवेक का इस्तेमाल करना आता है। मैं खुद सीएए और एनआरसी का सपोर्ट नहीं करता।

इनका कहना है

सीएए कानून बन गया है। इसके बारे में कोई बात नहीं कहना है।

- जगदीश चंद्र जटिया, कलेक्टर मंडला

Posted By: Hemant Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना