मंडला। नईदुनिया प्रतिनिधि

मंडला नगरी नर्मदा जी से तीनों ओर से घिरी हुई है। जहां पर जनहित दृष्टिकोण को लेकर चुरामन घाट, रंगरेज घाट, बनिया घाट, वैध घाट, किला घाट, नावघाट, नाना घाट व बाबा घाट इत्यादि का निर्माण हुआ था। वर्षा ऋतु में आने वाली बाढ़ के चलते इन घाटों में बाढ़ की मिट्टीयां प्रतिवर्ष परत दर परत जमती चली गई और घाटों की सीढ़ियां विलुप्त हो गई। विशेषकर वैद्य घाट और नाव घाट की सीढ़ियां 100 फीसदी जमी हुई मिट्टी के कारण विलुप्त हो गई है। जिससे नित्य स्नान करने वाले व पूजा पाठ और दीप-दान करने वालों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। इंदिरा वार्ड व राजराजेश्वरी वार्ड के बीच फंसा वैध घाट में लगभग चार वार्डों के लोग स्नान और पूजा-पाठ करने एक समय पहुंचा करते थे। किंतु बाढ़ की जमी हुई मिट्टी के कारण श्रद्धालुओं को घोर असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। क्षेत्रवासियों की जन मांग है कि नगर पालिका प्रशासन त्वरित रूप से वैद्य घाट और नाव घाट की सीढ़ियों में जमी हुई मिट्टी को हटवाये जाने की पहल करें।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020