निवास (नईदुनिया न्यूज)। गर्मी शुरू होते ही गांव गांव में जल संकट से लोग त्राहि त्राहि करने लगते है और मानव के साथ साथ जानवर पशु पक्षी बूंद बूंद पानी को तरसने लगते हैं। पानी न होने के कारण कई ग्रामों के ग्रामीण गंदा पानी पीने को भी मजबूर देखे जा सकते हैं। ऐसा ही एक मामला निवास जनपद के ग्राम पंचायत कटंगसिवनी के पोषक ग्राम मवई रैयत व मवई माल में देखने को मिला। जहां पर 700 लोगों की आवादी वाले इस गांव के ग्रामीण जल संकट से जूझ रहे हैं। जानकारी के अनुसार पंचायत के द्वारा आने वाली इस समस्या को लेकर पूर्व में ही अपने अधिकारियों को सूचना दे दी गई थी और प्रस्ताव बना कर भी दिया जा चुका है, की यहां पेयजल की दिक्कत है। जिसके कारण टैंकर के माध्यम से पेयजल प्रदान किया जाए। मगर वरिष्ठ अधिकारियों के कानों में जू तक न रेंगी। समस्या दिनों दिन विकराल रूप लेती देख मवई रैयत के जनों ने स्वयं ही कुुएं की सफाई का जिम्मा उठाते हुए सफाई अभियान शुरू कर दिया। बात दें कि इन गांव में लगभग आधा दर्जन हेडपंप हैं परंतु हैंडपैंपो का जलस्तर कम होने से तीन से चार हैंडपंप हवा उगल रहे हैं। बाकी के दो भी बहुत अधिक मेहनत के बाद ही लोगों के गले को तर कर पा रहे हैं। मगर ये भी पूरे गांव के लोगो की प्यास बुझाने में असहाय हैं। वहीं ग्राम मवई रैयत और मवई माल के बीच एक सार्वजनिक कुआं हैं। दोनों ग्राम के ग्रामीण जन उसी पर आश्रित है। परंतु लगातार गरमी के बढ़ते कुआं का जलस्तर भी बहुत नीचे जा चुका है। बहुत कचरा और कुआं के आसपास गंदगी का अंबार लग गया था। ग्रामीणों ने इसकी सफाई के लिए अनेकों बार पंचायत से निवेदन किया। परंतु कोई ध्यान नहीं दे रहा था। ग्रामीण जन मजबूरी में गंदा पानी पीने को मजबूर होने लगे थे। वहीं सभी ग्रामीणों ने शुक्रवार को योजना बनाई और युवा वर्ग व वरिष्ठ जनों ने खुद सफाई करने का फैसला लिया। लगभग 25से 30 फुट गहरे कुएं में अपनी जान जोखिम में डाल कर उतर गए और वहां गंदगी साफ की। मेहनत हमेशा रंग लाती है। गांव के लोगों की मेहनत भी रंग लाई। जिसके कारण ग्रामीणों को साफ पानी

मिलने लगा। बता दें कि इस ग्राम में मुख्यमंत्री पेयजल नलजल योजना भी नहीं है। जिससे ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा गांव में पानी का एक और स्रोत स्टाप डेम है। वहा की भी वर्षों से सफाई नहीं हुई है। जिसके कारण गंदगी का अंबार लगा हुआ है। इसी गंदगी के बीच मूक बधिर पशु अपनी प्यास बुझा रहे है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags