मंडला, नईदुनिया न्यूज। जिले का लाल सीमा की सुरक्षा करते हुए सीमा पर बलिदान हो गया है। उक्‍त जानकारी देते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि त्रिपुरा में बांग्लादेश सीमा पर शुक्रवार को उग्रवादियों से हुई मुठभेड़ में मंडला जिले का लाल बलिदान हो गया। जिसकी सूचना बीएसएफ हेड क्वार्टर द्वारा दी गई है, जिसमें बताया गया है कि बीएसएफ हेड कान्स्टेबल की पोस्ट पर तैनात गिरजेश कुमार उद्दे (53) जिले के बीजाडांडी विकासखंड के ग्राम चारगांव माल के रहने वाले हैं वह वर्तमान में त्रिपुरा में पदस्थ थे।

उग्रवादियों से हुई थी मुठभेड़

मिली जानकारी में बताया जा रहा है कि गत शुक्रवार को त्रिपुरा के पानीसागर सेक्टर में सीमा चौकी सिमना द्वितीय की सीमा पर गश्त कर रहे एक दल पर उग्रवादियों ने घात लगाकर भारी संख्या में फायरिंग कर दी थी। उक्त फायरिंग में बीएसएफ हेड कान्स्टेबल गिरजेश कुमार उद्दे को चार गोलियां लगी थीं। उन्हें हेलिकाप्टर से अगरतला ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

शाम तक पहुंचेगा पार्थिव शरीर

पुलिस विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बलिदानी गिरजेश कुमार की देह को अगरतला से कोलकाता होते हुए जबलपुर लाया जाएगा। यहां आज शाम तक पार्थिव शरीर पहुंचने की संभावना है, जिसके बाद उनके गृह ग्राम चारगांव माल में सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी जाएगी।

स्वजन में पत्नी और तीन बच्चे

ग्राम पंचायत के सरपंच से मिली जानकारी के अनुसार बलिदानी गिरजेश कुमार की पत्नी राधा देवी, दो पुत्र विपिन, तरुण और एक पुत्री चंद्रिका है। जो वर्तमान में जबलपुर में निवास करते हैं। घटना की जानकारी लगते ही वे सभी ग्राम चारगांव पहुंच गए हैं। साथ ही स्थानीय थाना का पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा है।

Koo App

त्रिपुरा में भारत-बांग्लादेश सीमा पर उग्रवादियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हुए मंडला के लाल गिरिजेश जी को अश्रुपूरित श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ। माँ भारती की रक्षा में सर्वस्व न्योछावर करने वाले गिरिजेश पर मंडला समेत पूरे देश को गर्व है। जय हिन्द 🇮🇳 जय जवान🙏🏻

- Faggan Singh Kulaste (@faggansinghkulaste) 20 Aug 2022

Posted By: tarunendra chauhan

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close