मंडला (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला मुख्यालय से तकरीबन 60 किलोमीटर दूर स्थित नैनपुर एसडीओपी आकांक्षा चतुर्वेदी को सूचना मिली कुछ तस्कर जंगली जीव लेकर मंडला की ओर जा रहे हैं। एसडीओपी नैनपुर द्वारा थाना प्रभारी बमहनी व पुलिस चौकी अंजनिया को तत्काल अपने क्षेत्र में वाहन चेकिंग लगाने के निर्देश दिए। अभी वाहन चेकिंग करते समय एक घंटे भी नहीं बीते थे कि मुखबिर द्वारा मिली सटीक सूचना का परिणाम सामने आ गया। जहां मोटरसाइकिल पर सवार चार लोग जंगली जीव दांत व खाल के साथ पकड़ लिए है। उनके पास से बाघ की खाल, सूअर के दांत बरामद हुई है। साथ ही शिकार करने में उपयोग आने वाले अन्य उपकरण भी पुलिस के हाथ लग गए। आनन-फानन में पुलिस ने पकड़े गए तस्करों के विरुद्घ मामला दर्ज कर उन्हें सलाखों के पीछे कर दिया है।

यह था मामलाः गत दिवस मुखबिर द्वारा सूचना दी गई थी कि सरही बिछिया की ओर से कुछ शिकारी बाघ एवं अन्य जंगली जानवरों का शिकार कर मोटरसाइकिल में रखकर बाघ की खाल, नाखून, दांत सूअर के दांत अन्य महत्वपूर्ण अंग लेकर अवैध रूप से तस्करी कर मंडला की ओर आ रहे हैं, पुलिस के द्वारा घाटी अंजनिया हनुमान मंदिर के सामने हाइवे पर संदिग्ध मोटर साइकिल चालकों की तलाशी अभियान प्रारंभ करने के दौरान दो मोटर साइकिल एमपी 52 एमसी 2925 एवं सीजी 09/4326 पर चार व्यक्ति बिछिया तरफ से आते दिखाई दिए जो पुलिस को देखकर मोटर साइकिल को रोककर भागने का प्रयास करने लगे पुलिस के द्वारा घेराबंदी करके पकड;कर तलाशी लेने पर दोनों बैग से बाघ की खाल चेहरा ,नाखून पैरों के पंजों सहित जीआइ तार कुल्हाड़ी जंगली सूअर के चार बड़े नुकीले दांत बरामद हो गए। पुलिस ने उनके विरुद्घ मामला दर्ज कर उन्हें सलाखों के पीछे कर दिया है।

ये हैं आरोपितः उक्त मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपितों की पहचान माखन लाल यादव पिता लालजी यादव उम्र 40 वर्ष निवासी ग्राम मंकी थाना बाजाग जिला डिंडोरी, आनंद कुशराम पिता लालमैन उम्र 30 वर्ष निवासी मेहदबानी जिला डिंडोरी, मनोज कुमार पंदराम पिता शोभा उम्र 32 वर्ष निवासी करनजिया व इतवारी पोशाम पिता धर्म सिंह उम्र 27 वर्ष निवासी ग्राम सलवार थाना बाजाग जिला डिंडोरी के रूप में की गई है।

मामला दर्ज कर भेजा जेलः आरोपितों के विरुद्घ पुलिस चौकी अंजनिया थाना बमहनी में वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत अपराध पंजीबद्घ कर गिरफ्तार किया गया है जिन्हें न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है ।

आरोपितो ने पूछताछ के दौरान बताया कि आज से करीब तीन-चार माह पहले जीआइ तार से भलवानी के जंगल में फंदा लगाकर बाघ का शिकार कर उसके शव को कुल्हाड़ी से काटकर खाल,नाखून व मुछ के बल को विक्रय करने के लिए निकाल लिए थे, इसी प्रकार जंगली सूअर का शिकार कर उसके नुकीले दांत बेचने के लिए ले जा रहे थे। पुलिस गिरफ्त में आए तस्करों के बयान के आधार पर विवेचना की जा रही है।

इनकी रही भूमिकाः मंडला जिले में कान्हा टाइगर रिजर्व होने के कारण आकांक्षा चतुर्वेदी एसडीओपी नैनपुर अपने अनुभाग में लगातार चेकिंग करने पर जोर देती रही है जिसके फलस्वरूप शुक्रवार को उन्हें शिकारियों को पकड;ने में सफलता मिल गई है।उक्त कार्रवाई में नीलेश दौहरे थाना प्रभारी बमहनी, एसआई जसवंत सिंह राजपूत चौकी प्रभारी अंजनिया, एएसआई अशोक चौधरी, राजेश सराठे प्रधान आरक्षक, शिव शंकर राजपूत, उत्तम पटेल पूसूलाल पंचेश्वर, आरक्षक राजेश सुनील ठाकुर इसरार खान विनोद पटेल उत्तम कोठरिया कीर्ति नगपुरे राम प्रसाद नेताम अनुपा की भूमिका महत्वपूर्ण रही।

वर्जन

चार लोगों को जंगली जीवो के खाल व दांत के साथ गिरफ्तार किया गया है जिनके विरुद्घ विभिन्न धाराओं के तहत मामला पंजीबद्घ कर उन्हें न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

आकांक्षा चतुर्वेदी एसडीओपी नैनपुर।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close