कई वार्डों में बनी विवाद की स्थिति, अधिकारियों पर भी जताई नाराजगी

विवाद कर रहे हिस्ट्रीशीटर जाहिद जुम्मा को भी पुलिस ने पकड़ा, प्रतिबंधात्मक कार्रवाई होगी

मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वार्ड 24 में न्यायालय के समीप शासकीय विद्यालय में स्थित मतदान केंध पर फर्जी मतदान की बात को लेकर विवाद हो गया। यहां पर छह महिलाएं वोट डालने के लिए पहुंची थी। दो महिलाओं के ही नाम वोटर लिस्ट में मिले। फर्जी मतदान की शंका को लेकर भाजपा के उम्मीदवार खेरून बी शहजाद पटेल ने आपत्ति ली। इस पर विवाद की स्थिति बन गई। सभी महिलाएं वार्ड 24 की ही निवासी थी। यहां पर पहले से ही मौजूद पुलिस ने चर्चा की। जिन महिलाओं के नाम वे अपना वोट डाल सकी। बाकी महिलाओं के नाम लिस्ट में नहीं मिले वे वोट दे पाई। एसडीओपी नरेन्द्र सोलंकी ने बताया कि सभी महिलाएं वार्ड की ही निवासी थी, वोटर लिस्ट में नाम नहीं मिलने के बाद सभी अपने घर चली गई। श्री सोलंकी ने बताया कि यहीं पर विवाद कर रहे हिस्ट्रीशीटर जाहिद जुम्मा को पुलिस ने पकड़ा और थाने लेकर आई मामले में प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की जाएगी।

नगरपालिका चुनाव में बुधवार को हुए मतदान के दौरान छुट-पुट विवादों को छोड़ दिया जाए तो अधिकांश जगह शांति ही रही। इस दौरान पुलिस व प्रशासन के अधिकारी पूरी तरह सतर्क रहे। क्यूआरएफ की टीम भी मतदान केंधों पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात रही। मतदान केंध से 100 मीटर दूरी पर ही राजनीतिक घमासान बना रहा। वार्ड नंबर सात के मतदान केंध कंबल केंध पर भाजपा प्रत्याशी संजय मुरडिया एवं भाजपा नेताओं ने विपक्षी दल के उम्मीदवार द्वारा केंध के अंदर किये जा रहे प्रवेश को अवैधानिक प्रवेश बताते हुए आक्रोश जताया। इस दौरान एसडीएम बिहारीसिंह के समक्ष आक्रोश जताते हुए कार्रवाई की मांग की। भाजपा के उम्मीदवार और कार्यकर्ताओं की कुछ देर तक एसडीएम से बहस हुई। वार्ड 27 में भी मतदान के दौरान किसी बात को लेकर विवाद हुआ था इस दौरान कुछ ही देर में विवाद को पुलिस ने शांत करवा दिया। वार्ड 20 में भी मतदान के दौरान विवादित स्थिति बनी थी। वार्ड 16 के मतदान केंध महारानी लक्ष्मीबाई विद्यालय के समीप गांधी चौराहा पर भाजपा उम्मीदवार पिंकी विनय दुबेला, निर्दलीय प्रत्याशी नीलू धर्मेन्द्र दिवान के स्वजनों के बीच दिनभर तनातनी बनी रही, बताया जा रहा है कि मतदान के दिन पहले दोनों उम्मीदवारों के स्वजनों के बीच विवाद हुआ था। वार्ड 33 में मतदाताओं को लेकर आए आटो पहुंचा इस दौरान तैनात पुलिसकर्मी आरक्षक ने कार्यकर्ताओं से कुछ कह दिया, इस बात पर कांग्रेस के उम्मीदवार तरूण खिंची आक्रोशित हो गये, पुलिसकर्मी से कहा कि भाषा ठीक रखो, इस दौरान मौजूद पुलिस अधिकारियों ने खिंची से चर्चा कर मामले को शांत किया। मदारपुरा में मतदान के दौरान मतदान केंध से कुछ दूरी पर भीड़ लगी रही, इस दौरान सीएसपी एवं पुलिस टीम भीड़ को खदेड़ती रही। इसी तरह गुदरी क्षेत्र में भी पुलिस बार-बार लोगों को इधर-उधर भगाती रही, कई बार पुलिसकर्मियों ने युवकों को भगाने के लिए उनके पीछे दौड़ भी लगाइ। मतदान के दौरान शहर में में शांति बनाए रखने के लिए क्यूआरएफ टीम भ्रमण करती रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close