मंदसौर। शहर में महू नीमच राजमार्ग पर स्थित जैन स्कूल में शुक्रवार सुबह बच्चों पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। इसमें करीब 30-35 बच्चों को डंक लगे हैं। सभी को जिला अस्पताल लाया गया है। मधुमक्खी के डंक से घायल बच्चों को मीडियाकर्मी और पुलिस के पहुंचने के बाद स्कूल से बाहर निकाला गया। शिक्षकों की बड़ी लापरवाही सामने आई है, रोते हुए बच्चों को स्कूल प्रबंधन ने कमरे में बंद कर खुद भी कमरे में बंद हो गए। जबकि उन्हें चिकित्सा सुविधा के लिए जिला अस्पताल पहुंचाना था। स्कूल के शिक्षकों व घायल बच्चों को लेकर कोतवाली टीआई अपनी गाड़ी से जिला अस्पताल पहुंचे, कुछ बच्चों को बाइक पर पहुंचाया।

स्कूल के शिक्षक और जिम्मेदार देखते रहे

स्कूल प्रबंधन की सबसे बड़ी लापरवाही रही कि बच्चे दर्द के मारे तड़प रहे थे पर किसी भी शिक्षक ने मदद के लिए न तो 108 एंबुलेंस को बुलाया और न ही पुलिस को सूचना दी। इससे साफ लगता है कि लापरवाही जानबूझकर की गई। बच्चों ने अपने माता-पिता को फोन लगाने को बोला तो भी शिक्षक देखते रहे। स्कूल परिसर में ही बच्चे तड़पते रहे ओर स्कूल के टीचर अपने आप को बचाने के लिए रोड पर भागते रहे। कुछ टीचर स्कूल के केबिन में ही छुपते हुए नजर आए। घायल बच्चों को अस्पताल पहुंचाने पर भी स्कूल के जिम्मेदार साथ में भी नहीं आए। मीडियाकर्मियों के कहने पर एक शिक्षक दो बच्चों को बाइक पर लेकर अस्पताल पहुंचा। बाकी सभी लोग स्कूल के अंदर से ही देखते रहे। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey