मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। तीन दिनों कोरोना के 51 मामले आने के बाद भोपाल से लेकर मंदसौर तक प्रशासन फिर एक्टिव मोड में दिख रहा है। रविवार को जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई। इसमें जब कलेक्टर मनोज पुष्प कह रहे थे कि जिले में मास्क नहीं पहनने वालों व दो गज की दूरी का पालन नहीं करने वालों पर नगरीय निकाय, राजस्व व पुलिस के संयुक्त दल कार्रवाई कर रहे हैं, उसी दौरान शहर के बाजारों में बिना मास्क लगाए भीड़ लगी रही। इधर बैठक में भी राजनीतिक कार्यक्रमों पर कोई चर्चा नहीं हुई। केवल शादियां व सामाजिक कार्यक्रमों में 100 से 200 लोगों की ही उपस्थिति सीमित रखने का निर्णय हुआ है।

कलेक्टोरेट सभाकक्ष में हुई बैठक में तय किया गया कि सामाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रम के आयोजकों को कोविड कंट्रोल रूम पर सूचना देना अनिवार्य होगी। साथ ही कोविड के नियमों का पालन करना भी अनिवार्य होगा। इस प्रकार के आयोजनों में प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य टीम भेजकर सभी की स्क्रीनिंग की जाएगी। कलेक्टर पुष्प ने समस्त नागरिकों से मास्क पहनने एवं कोविड प्रोटोकाल के पालन करने की अपील की। दुकानों, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों एवं खाने-पीने की दुकानों में शारीरिक दूरी एवं कोविड नियमों का पालन करें। घर से अनावश्यक बाहर नहीं निकलें। घर में रहें, सुरक्षित रहें। बैठक के दौरान सभी सामाजिक एवं व्यावसायिक संगठनों ने कोविड प्रोटोकाल के प्रचार-प्रसार, रोको टोको अभियान आदि के माध्यम से समाज के सभी वर्गों में जागरूकता लाने में सहमति प्रदान की। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, गरोठ विधायक देवीलाल धाकड़, नपाध्यक्ष राम कोटवानी, एसपी सिद्धार्थ चौधरी, जिपं सीईओ ऋषव गुप्ता, अपर कलेक्टर बीएल कोचले, पूर्व गृह मंत्री कैलाश चावला सहित अन्य जनप्रतिनिधि, जिला अधिकारी उपस्थित थे।

यह निर्णय हुए

-विवाह एवं अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में बंद हॉल, धर्मशाला में केवल 100 लोग रहेंगे।

-विवाह एवं अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में खुले गार्डन में अधिकतम 200 लोग ही रहेंगे।

-विवाह समारोह में बैंड-बाजा आदि विवाह स्थल पर ही बजा सकेंगे।

-विवाह समारोह में किसी भी प्रकार का प्रोसेशन, चल समारोह आदि नहीं निकलेगा।

अब लोगों की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ी

-मंदसौर में एक बार फिर से कोरोना के संक्रमित बढ़ने लगे हैं। ऐसे में अब हम सभी की जिम्मेदारी और भी ज्यादा बढ़ गई है। लोगों को भी सतर्क रहना चाहिए। अभी तो सभी मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें। -यश सैनी

-सभी एक बात अच्छी तरह से समझ लें कि कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। जिस तरह से लोग लापरवाही बरत रहे हैं और कोरोना की चपेट में आ रहे हैं, उसे देखकर हम सभी को सावधानियां बरतना चाहिए। सबसे पहले तो मास्क लगाना शुरू करें।-छोटूसिंह

-जब तक कोई वैक्सीन या दवा नहीं आ जाती है, हम मास्क लगाकर ही कोरोना से बच सकते हैं। कई लोगों ने मास्क लगाना बंद कर दिया है। इसके लिए प्रशासन को अब सख्ती से काम लेने की जरूरत है।- शंकरदास बैरागी

-अभी भी लोग मान नहीं रहे हैं। बसों में लोग बिना मास्क लगाए सफर कर रहे हैं और उनको कोई टोक भी नहीं रहा है। इसी बात पर कल ही एक बस संचालक से बहस भी हो गई थी। यह लापरवाही सब पर भारी पड़ सकती है। -शिवप्रकश काबरा

-अगर अभी जिंदगी बचाना है तो सभी को मास्क जरूर लगाना चाहिए। बुजुर्गों व बच्चों को ज्यादा खतरा है इसलिए सभी लोगों को उनके लिए भी सावधानी बरतना चाहिए। हमेशा मास्क लगाने से इस खतरे से बच सकते हैं।- रुकमाबाई माली

- मैं तो हमेशा मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग कर रहा हूं, लोगों को भी मास्क लगाने के लिए कहता हूं। मास्क लगाएं और खुद भी सुरक्षित रहें। दूसरों को भी सुरक्षित रखें। - नंदलाल फेरवानी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस