मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोरोना की तीसरी लहर का असर अब तेज हो रहा है। गुरुवार शाम से शुक्रवार सुबह के बीच 12 घंटे में 27 मरीज मिल चुके हैं। और इसके साथ ही तीसरी लहर में मिले कुल मरीज 115 हो गए हैं। इनमें से सक्रिय मरीज अब 84 हैं। संक्रमित मरीजों में सिविल सर्जन, टीआइ सहित कई शासकीय कर्मचारी भी शामिल हैं। शुक्रवार सुबह जारी हुए स्वास्थ्य बुलेटिन में 4 मरीज के ठीक होने का जिक्र भी किया गया है। शाम को मिली रिपोर्ट में कुल 14 मरीज मिले हैं, जो अभी तक सबसे ज्यादा है। इससे पहले मंगलवार रात में भी पांच मरीज मिले थे। तीसरी लहर में मिले कुल मरीज 83 हो गए हैं। अभी सक्रिय मरीज 56 हो गए हैं। बुधवार को भी कोई मरीज ठीक नहीं हुआ था।

अब मंदसौर शहर के साथ ही जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी मिल रहे हैं। और अब यह तय हो गया है कि कोरोना का असर पूरे जिले में हो गया है। लगभग 16 दिन में जिले भर में कुल 115 मरीज मिल चुके हैं। हालांकि अधिकांश होम आइसोलेट में हैं। गुरुवार की रात शुक्रवार सुबह मिले 27 मरीजों में मंदसौर शहर के 14 मरीज हैं। इसके अलावा शामगढ़ के 3, धुंधड़का के 6, मल्हारगढ़ के 2, ढाबला व प्रतापगढ़ के एक-एक मरीज मिले हैं। इससे पहले गरोठ, सुवासरा, पहेड़ा, भानपुरा, नारायणगढ़, रीछालाल मुंहा में भी मरीज मिले हैं। शु्‌क्रवार को कुल 484 सेंपल की रिपोर्ट मिली है। इसमें 9 पाजिटिव मिले हैं इसका अर्थ यह हुआ कि संक्रमण दर 2 प्रश के लगभग पहुंच गई हैं। हालांकि दूसरे जिलों की स्थिति देखे तो अभी भी जिले में कोरोना के ज्यादा मरीज नहीं मिल रहे हैं पर लोगों की लापरवाही कम नहीं हो रही है। इसीलिए प्रशासन भी बार-बार कह रहा है कि अगर दुकाने बंद नहीं करानी है तो मुंह पर मास्क लगा लो और कोरोना की गाइड लाइन का पालन करो। मरीजों के बढ़ने की गति देखकर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने भी पूरी तैयारी कर ली है। जिले के कोविड केयर सेंटरों पर 1198 बेड तैयार किए गए हैं। सीएमएचओ डा. केएल राठौर ने बताया कि तीसरी लहर से बचाव के लिए जिले में 51 फीवर क्लीनिक बनाए गए हैंन यहां कभी भी जांच के लिए सेंपल दे सकते हैं। 15 कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैंन कोविड केयर सेंटर में 1148 बिस्तर की व्यवस्था की गई हैन जिले में सात आक्सीजन प्लांट तैयार हैंन इसके अलावा 529 आक्सीजन कंसन्ट्रेटर उपलब्ध है। जिले में अभी तक 206 विदेशी यात्री आए हैं इनमें से 5 पाजिटिव मिले थे।

हमारी सुरक्षा के लिए जरूरी है मास्क

-मास्क हमारे स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए बहुत जरूरी है। कोरोना संक्रमण से बचने का यही सबसे प्रभावी तरीका है। लोगों को स्वयं जागरुक होने की जरुरत है। कोरोना संक्रमण के दौरान यह सावधानियां तो रखनी ही होगी।- गोपालसिंह सोनगरा

-अभी मास्क लगाना हम सभी का कर्तव्य है। कोरोना को रोकना सिर्फ सरकार की जवाबदारी नहीं है। महामारी को ख़त्म करना है तो सभी को मिलकर प्रयास करना पड़ेगा। -पुरुषोत्तम त्रिपाठी

-मास्क और दो गज की दूरी का पालन होना चाहिए। मास्क लगाकर सिर्फ हम ही नहीं हमारा परिवार भी सुरक्षित रहेगा। जो लोग मास्क की अहमियत को नहीं समझ रहे हैं वह अपने जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।- शांति त्रिपाठी।

-मास्क को सिर्फ औपचारिकता निभाने के लिए नहीं लगाना चाहिए। मास्क और दो गज की दूरी ही हमें संक्रमित होने से बचा सकती है। कोरोना को जड़ से मिटाने के लिए सबका सहयोग जरुरी है। -सिरुमल आसवानी

-लोगों को अपनी जिम्मेदारी समझना चाहिए। मास्क लगाने के लिए सरकार कब तक समझाएगी। कोरोना संक्रमित तेजी से बढ़ रहे हैं यदि अपने परिवार की सुरक्षा चाहिए तो बाहर निकलते समय हमेशा कोविड नियमों का पालन जरूर करें।-दिग्विजयसिंह

-जब यह बात सही है कि कोरोना से सबसे पहले मास्क ही बचाएगा तो फिर लापरवाही कैसी। इसलिए मास्क लगाने में लापरवाही बरतना ठीक नहीं है। लोग स्वयं भी मास्क लगाए और अपने आसपास के लोगों को भी मास्क लगाने के लिए जागरूक करें। - लोकेंद्र नागोड़ा

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local