मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में मानसून पूर्व की वर्षा हो रही है। गुरुवार को दोपहर में शामगढ़ में करीब 20 मिनट तक तेज वर्षा हुई। बुधवार रात में भावगढ़ क्षेत्र में भी तेज वर्षा हुई। गुरुवार को मंदसौर में दिनभर आकाश में बादल छाए रहे। ऐसा लगा कि वर्षा शुरू ही हो जाएगी, लेकिन बादल घुमड़ते रहे, रात तक वर्षा नहीं हुई। बादल छाए रहने से दोपहर के तिापमान में एक दिन में रिकार्ड कमी हुई है। बुधवार को अधिकतम तापमान 38 डिग्री दर्ज हुआ था जो गुरुवार को 11 डिग्री लुढ़ककर 27 डिग्री पर पहुंच गया है, वहीं रात का तापमान भी एक डिग्री कम होकर 25 से 24 डिग्री पर पहुंच गया है।

गुरुवार को जिलेभर में दिनभर बादल छाये रहे। कहीं पर कुछ देर बूंदाबांदी भी हुई। वहीं कुछ क्षेत्रों में बादल बरसे नहीं। 24 घंटे में भावगढ़ वर्षा मापक केन्द्र में 23.2 मिमी वर्षा दर्ज हुई। गत वर्ष की तुलना में इस साल कम बारिश हुई है। 23 जून की सुबह आठ बजे तक जिले में औसत 35 मिमी वर्षा दर्ज हो चुकी है। पिछले साल 23 जून तक 86 मिमी वर्षा दर्ज हो चुकी थी। इस वर्ष सबसे ज्यादा धुंधड़का 47 मिमी और सुवासरा 46 मिमी व संजीत 43 मिमी वर्षा हुई है। वहीं कम बारिश कयामपुर, मल्हारगढ़ और सीतामऊ में 12 मिमी वर्षा ही हुई है। गुरुवार शाम को पिपलियामंडी क्षेत्र में भी बूंदबांदी हुई।

शामगढ़ में 20 मिनट झमाझम

शामगढ़। गर्मी एवं उमस के बीच गुरुवार दोपहर तीन बजे नगर में 20 मिनट तक वर्षा हुई। पानी सड़कों से बह निकला। बाद में बादल छाए रहे एवं हवा चलती रहीं। किसानों को अब पानी की दरकरार है। शामगढ़ में एक इंच बारिश हो चुकी है।

मंदसौर जिले में अब तक हुई बारिश

स्थान 24घंटे में 23जून 22 23जून 21

मंदसौर 0.0 26.0 75.0

सीतामऊ 2.4 12.2 169.4

सुवासरा 0.0 46.2 121.1

गरोठ 0.0 25.2 59.8

भानपुरा 9.4 22.0 16.8

मल्हारगढ़ 0.0 13.0 100.0

धुंधड़का 0.0 47.0 44.0

शामगढ़ 0.0 24.2 74.4

संजीत 0.0 43.0 68.0

कयामपुर 0.0 12.0 140.5

भावगढ़ 23.2 23.2 0.0

औसत 35.0 29.0 86.0

जिले की औसत वर्षा - 32.5

(स्त्रोतः भू-अभिलेख विभाग मंदसौर, आंकडे 23 जून सुबह 8 बजे तक के मिमी में।)

मनासा में करीब आधे घंटे हुई वर्षा

मनासा। नगर में गुरुवार को करीब आधे घंटे तक वर्षा हुई है। इससे रोड पर पानी बह निकला। इसके अलावा कई स्थानों पर जलजमाव भी हुआ है। इससे मौसम में ठंडक घुल गई। इससे लोगों को उमस व गर्मी से राहत मिली है। उल्लेखनीय है कि पिछले करीब दो दिनों से मौसम में परिवर्तन हुआ है। इससे आसमान में लगातर बादल छाए हुए है। वहीं गुरुवार दोपहर में भी एकाएक घने बादल छा गए और वर्षा शुरू हो गई। यह मौसम की पहली वर्षा हुई है। क्षेत्र में बड़े स्तर पर खेती होती है। कि सान इन दिनों खाद बीज खरीदने में लगे हुए हैं। वहीं वर्षा का इंतजार भी कर रहे है। अच्छी वर्षा के साथ ही कि सान खरीफ फसल की बोवनी शुरू कर देंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close