बैठक में अधिकारियों को कलेक्टर ने दिए निर्देश, बारिश के दौरान अधिकारी, कर्मचारी गलत निर्णय न लें

मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कलेक्टर कार्यालय में बाढ़ के संबंध में कलेक्टर गौतमसिंह ने अधिकारियों एक बैठक ली। बैठक में उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा जब बाढ़ का पानी पुल के ऊपर हो तो आवागमन पूरी तरह से बाधित कर दे। किसी भी आपातकालीन स्थिति में वहां से किसी को भी नहीं निकलने दें। किसी भी कीमत पर किसी भी व्यक्ति के साथ कोई भी खतरा उत्पन्ना नहीं होना चाहिए। इसके साथ ही अगर भवन जर्जर हो तो उसको तुरंत खाली करवाएं। मकान की स्थिति ज्यादा खराब हो और कभी भी गिर सकता है, तो ऐसे मकान को गिरवाए। सभी लोग फील्ड में रहे तथा गांव वालों से संपर्क में रहे। इसके साथ ही सभी अधिकारी, कर्मचारी आपस में बात करें। बात करने में किसी प्रकार का ईगो न पाले। कोई भी कर्मचारी छोटा हो या बड़ा, सभी से बात करें। सभी लोग समन्वय रखकर बेहतर परफॉर्मेंस दें। बैठक के दौरान पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजानिया, सीईओ जिला पंचायत कुमार सत्यम, अपर कलेक्टर आरपी वर्मा, मंदसौर एसडीएम सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

तेज बारिश के दौरान अधिकारी एवं कर्मचारी गलत निर्णय न ले, इस तरह गलत निर्णयों का भुगतान सभी को बाद में भुगतना पड़ता है। सभी लोग दिमाग से काम करें। इसके साथ ही फील्ड में सतर्क रहें, फिर निर्णय ले। कहीं पर भी जलभराव की स्थिति निर्मित न होने दें। अगर किसी का घर गिरता है, तो ऐसे बेसहारा लोगों को तुरंत आरबीसी 6-4 के तहत राहत प्रदान करें। नगरीय निकाय के सभी सीएमओ नालों की विशेष तौर पर सफाई पर ध्यान देवें। पटवारी एवं सचिव गांव के लोगों संपर्क में रहें। बाढ़ के स्थानों पर सेल्फी लेने वाले लोगों को वहां से दूर करें। पानी से लोगो को 100 से 200 मीटर की दूरी पर रखे।

पर्यटन स्थलों पर विशेष तौर पर ध्यान रखें। इसके साथ ही किसी पुल-पुलिया पर निकलते हुए लोगों के वीडियो पाए गए, तो यह समझा जाएगा कि संबंधित अधिकारी की व्यवस्था में गंभीर कमी थी। होमगार्ड विभाग लगातार निगरानी रखे। एसडीएम एवं तहसीलदार होमगार्ड के संपर्क में रहे। नगर निकायों के जेसीबी, क्रेन ठीक अवस्था में रखें तथा जरूरत पड़ने पर तुरंत पहुंचाए। बारिश के पश्चात बीमारी होने का खतरा बढ़ता है। उसके लिए सभी नगरीय निकाय एवं सभी जिलाधिकारी आवश्यक व्यवस्था रखें, ताकि आम नागरिकों को बारिश से होने वाली बीमारियों से बचाया जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close