मंदसौर। पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल शुक्रवार को चित्तौड़ से रतलाम तक एक दिवसीय दौरे पर आए। शुक्रवार दोपहर में पिपलियामंडी-मंदसौर के बीच सिंदपन के समीप पहुंचे, यहां पर केवी कर्षण उपकेंद्र का शुभारंभ किया यहां करीब 20 मिनट तक यहां निरीक्षण किया। इस दौरान रेल सुविधा समिति ने ज्ञापन सौंपकर सुविधाओं की मांग की। इसके बाद मंदसौर की तरफ आए, मंदसौर रेलवे स्टेशन पर जीएम कंसल नहीं उतरे यहां पर मंदसौर स्टेशन का उन्होंने विशेष सेलून की खिड़की से ही किया। शाम को चार बजकर छह मिनट पर शिवना ब्रिज पर पहुंचे, यहां पर करीब 20 मिनट तक निरीक्षण किया। 4.26 बजे यहां से दलौदा के लिये चले गये। दलौदा में कर्मचारी आवास का लोकार्पण किया।

जीएम के दौरे को लेकर स्टेशनों पर सभी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद रही। स्टेशनों को चकाचक देख जीएम भी खुश हुए। मंदसौर रेलवे स्टेशन पर जीएम नहीं उतरे लेकिन सभी व्यवस्थाएं चकाचक ही रही। शिवना ब्रिज का निरीक्षण करने के दौरान जीएम आलोक कंसल ने पत्रकारों से चर्चा में कहा कि चित्तौड़गढ़ से रतलाम तक फाटक, ब्रिज आदि का निरीक्षण किया है। क्या सुविधाएं स्टेशनों पर है इनमें क्या सुधार किये जा सकते है इसको लेकर निरीक्षण किया गया है। स्टेशनों पर स्वच्छता बहुत अच्छी है, फाटकों व स्टेशनों पर जो काम चल रहे उनकी समीक्षा भी की गई है। जीएम कंसल ने कहा कि नीमच से चित्तौड़ तक दौहरीकरण का काम चल रहा है, हमने मार्च तक इस कार्य को पूरा करने का लक्ष्‌य निर्धारित किया है। इसके साथ ही सात अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा नीमच से रतलाम तक दौहरीकरण कार्य को मंजूरी दी है। इसकी लागत करीब 1095 करोड़ है। इस काम को तीन से चार साल में पूरा करने का लक्ष्‌य हमने निर्धारित किया है। रतलाम से नीमच तक दौहरीकरण का काम होगा इस दौरान शिवना ब्रिज का भी निर्माण किया जाएगा।

नवनिर्मित उपकेंद्र व रेस्ट रुम का जीएम ने किया शुभारंभ

पिपलियामंडी। पश्चिम रेलवे मंडल के महाप्रबंधक आलोक कंसल ने सिंदपन में बोतलगंज ढिकनिया मार्ग पर स्थित रेलवे समपार के पास नवनिर्मित 132/25 केवी कर्षण उपकेंद्र व टूल-रूम कम रेस्ट-रुम का फिता काटकर लोकार्पण किया। जीएम कंसल दोपहर तीन बजे विशेष सैलून से सिंदपन पहुंचे थे। करीब 25 मिनिट तक यहां और रूके, रेल व अन्य समस्या लेकर आये लोगो से चर्चा की।

जीएम कंसल ने 132/25 केवी कर्षण उपकेंद्र का शुभारंभ किया। यहां पर टेक्नीशियन से उपकेंद्र में लगी मशीनरियों की जानकारी ली। बाद में कर्षण मशीन का स्वीच दबाकर शुभारंभ किया। बैटरी कक्ष का निरीक्षण किया, कर्षण केंद्र के पास नवनिर्मित टूल-रूम कम रेस्ट-रुम पहुंचकर फिता काटकर लोकार्पण किया। टूल रूम व रेस्ट रुम का भी निरीक्षण किया। इस दौरान पिपलियामंडी रेलवे सुविधा विस्तार समिति सदस्यों ने महाप्रबंधक को कोरोनाकाल से पूर्व मिल रही रेल सुविधाओ को बहाल करने की मांग का ज्ञापन दिया। कुछ किसानों ने रेलवे समपार 143 से 144 के बीच रेलवे कार्य के दौरान टूटी सड़क को बनवाने की मांग की। महाप्रबंधक आलोक कंसल ने कहा कि जो ट्रेन पूर्वानुसार नही चल रही उनकी सेल देखी जाएगी।नई ट्रेनों के स्टॉपेज के संबंध में सांसद से चर्चा कर उनकी ओर से सुझाव आएगा तो मंडल तय करेगा। किसी ट्रेन को रोकना या उसका रूट बदलना मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं आता। जो सुविधाएं अभी है उनको हम दिखवाएंगे कोरोना काल मे बंद हुई सुविधाओ को कम किये गए वो टिकट पर आधारित है। रेलवे सुविधा विस्तार समिति संरक्षक रमेश तेलकार, अध्यक्ष अनिल शर्मा, बाबू मंसूरी, राजेश फरक्या, राजेन्द्र गोयल आदि उपस्थित थे।

दलौदा में कर्मचारी आवास का किया लोकार्पण

दलौदा। पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक आलोक कंसल ने दलौदा रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। यहां पर नवनिर्मित रेलवे कर्मचारी आवास एवं बाल उद्यान का लोकार्पण किया। जीएम कंसल ने बाल उद्यान में पौधारोपण भी किया।

निरीक्षण के दौरान जीएम कंसल को दलौदा में रेल सुविधा के लिए समिति द्वारा ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन सौंपने वालों में मनोहरलाल सोनी, अनिल सुराणा, अजय शर्मा, विकास सुराणा, विपिन जैन आदि ने बताया कि पूर्व में रुक रही इंदौर-जोधपुर का ठहराव व अन्य गाड़ी जयपुर-भोपाल के ठहराव किये जाए। जीएम कंसल ने कहा कि स्टेशनों के दोहरीकरण के दौरान प्लेटफाम का उन्नायन होगा। बजट व आवश्यकता को देखते हुए रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। दलौदा से ही ढोढर में बने रेलवे कर्मचारी आवास का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से लोकार्पण किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local