मंदसौर। शहर और आस-पास के इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी है। यहां शिवना नदी का जल स्तर अचानक बढ़ गया और इसका पानी पशुपतिनाथ मंदिर के गर्भगृह तक जा पहुंचा है। सीतामऊ और अन्य इलाकों में भारी बारिश से कई रास्ते बंद हो गए हैं। कलेक्टर मनोज पुष्प ने भारी वर्षा को ध्यान में रखते हुए मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ व मंदसौर तहसील, मंदसौर व मल्हारगढ़ नगर पालिका, नगर परिषद के सभी स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए 14 अगस्त का अवकाश घोषित किया है। जिससे स्कूल के बच्चे भारी वर्षा से प्रभावित ना हो।

पुलिया टूटने से बह गए प्रोफेसर की पत्नी और बेटी

मंदसौर के गांधी नगर और शिक्षक नगर के बीच एक पुलिया टूटने से एक महिला बेटी के साथ पानी के तेज बहाव में बह गई। महिला की पहचान एक प्रोफेसर की पत्नी के रूप में हुई है। जिनका नाम बिंदु गुप्ता(42) और आश्रुति गुप्ता(20) बताया जा रहा है।

शहर में रात में दो घंटे में हुई पांच इंच बरसात, शहर के कई हिस्से हुए जलमग्न। यश नगर क्षेत्र में विधायक यशपालसिंह सिसोदिया के निवास पर भी पानी घुसा। बुगलिया नाले का पानी ग्राम हेदरवास में घुस गया। काला भाटा बांध का एक गेट खोला गया है, पानी लगातार तेजी से बढ़ रहा है। धानमंडी सहित शहर की सड़कें फिर लबालब हो गई हैं। अधिक बारिश से मंदसौर सीतामऊ रोड पर दस से बारह मकानों में पानी घुस गया है। गीताभवन अंडर ब्रिज में 5 फीट पानी भरा है। अभिनंदन मेन रोड पर भी पानी भरा है।

मंदसौर के विधायक यशपालसिंह सिसोदिया के घर में भी पानी भर गया, इस तरह पानी में वे बाहर निकले।

थाना पिपलियामंडी के ग्राम थडोद नई आबादी क्षेत्र में घरों में पानी घुसने के चलते लोग अपने परिवार के साथ छतों पर जाकर बैठ गए। सूचना मिलने पर पिपलियामंडी पुलिस मौके पर पहुंची, क्षेत्र के रहवासियों की मदद की जा रही है। पिपलियामंडी नगर में जिन कस्बों में बारिश का पानी घर-दुकानों में घुसा के उनके परिवार वालों को सचेत किया जा रहा है। काका गाडगिल सागर के 6 गेट रेतम बैराज के 10 गेट 0.5 मीटर तक खोले जा रहे हैं। ग्राम बादरी में पांच मकान गिर गए है और चार भैसों की मौत हो गई है।

गलियारा व चिकला के बीच बनी पुल पर पानी अत्यधिक होने के कारण आवागमन बंद हो चुका है। तेज बहाव के कारण पुलिया का कुछ हिस्सा भी क्षतिग्रस्त हुआ है। जलभराव क्षेत्रों में लगातार कलेक्टर व एसपी द्वारा भ्रमण किया जा रहा है। लोगों को वहां से निकालकर उचित जगह पर पहुंचाया जा रहा है। उनको राहत सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। बचाव कार्य के लिए कलेक्टर द्वारा तहसीलदार नारायण नांदेडा, नायब तहसीलदार वैभव बैरागी, मल्हारगढ़ तहसीलदार, एसडीएम की टीम को राहत कार्य के लिए लगाया गया है।

सुवासरा रेल अंडरपास में नाला लबालब होने से सुवासरा चौपाटी से पर प्रशासन द्वारा बैरीकेड्स लगा दिए गए। नाहरगढ थाना क्षेत्र के भूखी गांव में भी नाले का पानी घुसा है। लुनाहेड़ा गांव के कई घरों में पानी घुसा है। मल्हारगढ तहसील के गांव बैलारा ओर देवरी के बीच का तालाब टूट गया है। बापूलाल पिता मोतीलाल धाकड़ निवासी बडवन नाले में बहने की सूचना है।