Mandsaur Crime News: मंदसौर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। मंदसौर जिले के भानपुरा थाना क्षेत्र में एक युवक ने 25 अक्टूबर को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। गुरुवार(28 अक्टूबर) को युवक दो-तीन वीडियो भी सामने आए। जिसमें वह अपने दोस्तों को गांव की ही एक युवती के पिता द्वारा दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देने की बात कर रहा है। और साथ ही कह रहा है कि युवती की कही शादी मत होने देना।

मंदसौर जिले के भानपुरा थाने के ग्राम सांदलपुर के सुनील पाटीदार ने 25 अक्टूबर को घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। जाने देने से पहले सुनील पाटीदार ने अपने मोबाइल में वीडियो बनाया था। इस वीडियो में उसने प्रेमिका के पिता मांगीलाल पाटीदार और एक रिश्तेदार कारूलाल द्वारा धमकाने और दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकी देने का आरोप लगाया है। सुनील ने फांसी लगाने से पहले यह वीडियो बनाकर अपने दोस्तों को भेजा था। वीडियो में दोस्त नीलेश, राकेश और एक रिस्तेदार पवन का जिक्र किया है।

दोस्तों से कहा माता-पिता का ख्याल रखना

सुनील ने अंतिम समय में बनाए वीडियो में दोस्तों को कहा कि मेरे माता पिता का ख्याल रखना। उसने दोस्तों को आगाह करते हुए कहा कि वे अपना ध्यान रखें उन्हें भी किसी केस में फसाया जा सकता है। इसके बाद अपने रिश्तेदार दोस्त को कहा कि जिस लड़की से वह प्यार करता है उसकी शादी नहीं होना चाहिए। इसके बाद सुनील ने एक कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।

सुनील के साथ पहले भी हुई थी मारपीट तब भी निगल लिया था जहर

सुनील के स्वजनों ने बताया कि पास के गांव की रहने वाली युवती से वो प्रेम करता था। प्रेम प्रसंग के चलते पहले भी युवती के स्वजनों द्वारा उसके साथ मारपीट की गई थी। तब भानपुरा थाने में 25 सितम्बर 2020 को भी दोनों पक्षों ने क्रास कायमी दर्ज करवाई थी। तब भी सुनील जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया था। इस बार भी उसके साथ 24 अक्टूबर को मारपीट की गई थी इसके बाद उसने 25 अक्टूबर को आत्महत्या कर ली।

परिवार का आरोप पुलिस ने मोबाइल से सबूत भी मिटाए, सहयोग भी नहीं किया

मृतक के चाचा भागचंद पाटीदार ने बतया की सुनील ने खुदकुशी से पहले अपने दोस्तों को वीडियो भेजा था। आत्महत्या के बाद पुलिस ने मोबाइल जब्त कर लिया था। मोबाइल में उसके और भी कई सबूत थे। उसने अपने तीन दोस्तों को अलग-अलग वीडियो क्लिप भेजे थे। बाकी का वीडियो और अन्य काल रिकार्डिंग जैसे कई सबूत मोबाइल में मौजूद थे। लेकिन पुलिस ने उसका डेटा डिलीट कर दिया। सुनील द्वारा दोस्तों को भेजे गए वीडियो मैसेज इंटरनेट मीडिया में वायरल हो गए। इसके बावजूद पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ कोई मामला तक दर्ज नहीं किया है।

इनका कहना है

आत्महत्या के मामले की जांच कर रहे हैं। मर्ग दर्ज कर लिया है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके अनुसार कार्रवाई करेंगे।- कमलेश सिंगार, टीआई, भानपुरा थाना

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local