हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

11 एमडीएस-67 केप्शनः विहिप पदाधिकारियों ने बेनीप्रसाद मरावी को ज्ञापन सौंपा।

भानपुरा। नईदुनिया न्यूज

विहिप के विभाग सहमंत्री युवराजसिंह चौहान की हत्या के विरोध में शुक्रवार दोपहर विहिप व अन्य हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने विजय स्तंभ पर एकत्र होकर युवराजसिंह को श्रद्घांजलि दी। राज्यपाल के नाम ज्ञापन तहसील कार्यालय पर कानूनगो बेनीप्रसाद मरावी को सौंपा गया। इसमें मांग की गई कि हत्याकांड में सम्मिलित सभी अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार कर निष्पक्ष जांच के लिए एसआईटी का गठन किया जाए। डॉ. आनंद जैन ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। विजय शर्मा ने हत्यारों को अतिशीघ्र फांसी की सजा दिलाने की मांग की। ज्ञापन का वाचन विहिप जिला सहमंत्री पवन उपाध्याय ने किया। आदित्य मंगरोलिया, सुभाष नामदेव, सूर्यप्रकाश भट्ट, छोटू माली, बंटी गुर्जर, विनोद गौड़, रवि पावंडिया, सौरभ विश्वकर्मा, सूरज मालवीय, बीसी मांदलिया, जयंत जोशी, प्रदीप मित्तल सहित काफी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

रजिस्टर्ड डाक से भेजा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन

भानपुरा। युवराजसिंह चौहान की हत्या के विरोध में राज्य अधिवक्ता परिषद के आव्हान पर बार एसोसिएशन के समस्त अधिवक्ता शुक्रवार को न्यायालयीन कार्य से विरत रहे। मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन कलेक्टर को रजिस्टर्ड डाक से भेजा गया। ज्ञापन में बताया गया कि सरकार द्वारा वकीलों की सुरक्षा में कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। अधिवक्ता प्रोटेक्शन अधिनियम भी नहीं लाया गया। इससे पूरे प्रदेश के अधिवक्ता आक्रोशित हैं। शीघ्र ही एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट बनाने व इस तरह की घटना भविष्य में नहीं हो, वकीलों की सुरक्षा हेतु कदम उठाने एवं आरोपितों के विरुद्घ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। बार एसोसिएशन अध्यक्ष सत्यनारायण चतुर्वेदी, सतीशचंद्र जोशी, रासबिहारी द्विवेदी, महेश भटनागर, धनसुख पाटीदार, शुजाफरीद चौधरी, गौतम बाफना, रामगोपाल पाटीदार, मोहन राठौर सहित समस्त एडवोकेट न्यायालय कार्य से विरत रहे।

प्राचार्य से लेकर अध्यापक तक का कार्य किया बालिकाओं ने

11 एमडीएस-70 केप्शनः विश्व बालिका दिवस पर विद्यालय का संचालन किया छात्राओं ने।

अरनोद। अरनोद के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में विश्व बालिका दिवस पर बालिकाओं ने प्रधानाचार्य से लगाकर प्राध्यापक तक बनकर कार्य किया। प्रधानाचार्य सीमा मीणा ने बताया कि बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शुक्रवार को विश्व बालिका दिवस पर विद्यालय का संचालन छात्राओं से कराया गया। इसके अंतर्गत प्रधानाचार्य से लगाकर सहायक कर्मचारी तक की ड्रेस में छात्राएं विद्यालय आईं। छात्राओं ने मीटिंग व विद्यालय संचालन संबंधी किए।