इंजीनियर शहर में भ्रमण कर चिन्हित करेंगे अतिक्रमण

बड़े अतिक्रमणकर्ताओं को तीन दिन का नोटिस मिलेगा

12 एमडीएस-56 के प्शन- स्टेशन रोड पर तिरुपति प्लाजा के सामने से निकल रहे नाले के ऊपर कर दिया पक्का निर्माण।

12 एमडीएस-57 के प्शन- पुलिस पेट्रोल पंप के सामने एसबीआई की मुख्य शाखा के समीप के नाले को लोगों को अतिक्रमण कर बंद कर दिया।

12 एमडीएस-58 के प्शन- लक्ष्मण दरवाजा मार्ग पर नाले पर किया गया है अतिक्रमण। बारिश में इस मार्ग पर भरता है पानी।

मंदसौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

अतिवृष्टि के कारण पिछले माह नगर के कई क्षेत्रों में पानी भरने से नागरिकों, व्यापारियों को करोड़ों का नुकसान हुआ है। इन हालातों को देख अब नगर पालिका ने शहर की ड्रेनेज व्यवस्था सुधारने की तैयारी शुरू की है। शहरभर में नाले-नालियों पर किए गए अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई भी नपा जल्द ही शुरू करने वाली है। नौ अक्टूबर को हुई नपा की बैठक में इस पर बहस भी हुई थी। इसके बाद निर्णय हुआ कि नगर पालिका नाले-नालियों पर अतिक्रमण करने वाले लोगों को नोटिस नहीं देगी और सीधे ही कार्रवाई करेगी। इससे पहले नपा के इंजीनियर और अधिकारी ऐसे स्थानों को चिन्हित भी करेंगे।

शहर में लगभग सभी क्षेत्रों में नाले-नालियों पर कहीं रहवासियों ने तो कहीं दुकानदारों ने अपनी सुविधा अनुसार अतिक्रमण कर रखा है। इस कारण नाले-नालियों की सफाई नहीं हो पाती है, जिससे ये चोक हो जाते हैं। सफाई कर्मचारी भी ठीक से सफाई नहीं कर पाते। लगातार सफाई नहीं होने से बारिश में सड़कों पर पानी भरने की समस्या खड़ी हो रही है। पिछले माह अतिवृष्टि और फिर अव्यवस्थित ड्रेनेज व्यवस्था ने शहर को पानी से भर दिया था। दुकानें और घरों में छह-छह फीट तक पानी भर गया। ऐसी स्थिति आगामी समय में न बने, इसके लिए नपा ने ड्रेनेज व्यवस्था को सुधारने की पहल की है। नौ अक्टूबर को नपा की बैठक में नाले-नालियों पर अस्थायी अतिक्रमण के प्रकरण पर चर्चा एवं पार्षदों के सुझाव लिए गए। इस पर वार्ड एक पार्षद रूपल संचेती ने अस्थायी के साथ ही स्थायी अतिक्रमण को भी हटाने का सुझाव दिया। वहीं स्वास्थ्य समिति के सभापति डिकपालसिंह भाटी ने नाले-नालियों पर हो रहे अतिक्रमण पर कार्रवाई करने की मांग की। भाटी ने बताया कि नाले-नालियों पर कई लोगों ने मकान या बाउंड्रीवॉल बना ली है। ऐसे 500 से अधिक स्थान हैं, जहां अतिक्रमण किया गया है। तुरंत निर्णय से ही स्थिति में सुधार होगा, इसलिए नपा नोटिस देना बंद करे, अतिक्रमण चिन्हित होते ही उसे तत्काल हटाया जाए। इस सुझाव पर मौजूद सभी पार्षदों ने हाथ उठाकर हां कर दी। साथ ही नपाध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख ने भी कहा कि अब नपा अतिक्रमण पर तत्काल कार्रवाई करेगी। यानी अब नोटिस नहीं दिए जाएंगे, नाले-नालियों पर अतिक्रमण चिन्हित होते ही नपा हटाएगी।

बड़ा अतिक्रमण हटाने से पहले देंगे तीन दिन का नोटिस

अतिक्रण हटाने से पहले नगर पालिका के इंजीनियर और अधिकारी अतिक्रकण को चिन्हित करेंगे, नाले-नालियों पर अतिक्रमण मिलते ही उसे नपा तत्काल हटाने की कार्रवाई करेगी। इसके अलावा बड़े अतिक्रमण जिसका अतिक्रमण हटाने के लिए नपा उसे तीन दिन का नोटिस देगी, ऐसे में अतिक्रमणकर्ता तीन दिन में नहीं हटाता है तो नपा अमला जाकर अतिक्रमण हटाएगा।

-----वर्सन-----

- नाले-नालियों पर शहरभर में 500 से अधिक स्थानों पर अतिक्रमण की समस्या है। नगर पालिका के इंजीनियर एवं अधिकारी शहर में मुआयना कर सभी अतिक्रमण चिन्हित करेंगे। नाले-नालियों पर अतिक्रमण तोड़ने के लिए नोटिस नहीं दिया जाएगा, सीधे कार्रवाई होगी। कोई बड़ा अतिक्रमण मिलता है, उसे तीन दिन का नोटिस जारी होगा। नाले-नालियों पर अतिक्रमण के कारण सफाई नहीं हो पाती है, जिससे गंदे पानी की निकासी भी प्रभावित हो रही है। जल्द ही कार्रवाई भी शुरू की जाएगी। नपा की बैठक में इसका निर्णय हो गया है। -डिकपालसिंह भाटी, सभापति स्वास्थ्य समिति, नपा