गरोठ में हुआ अभा कवि सम्मेलन

सुबह चार बजे तक हजारों की उपस्थित जनता ने लिया खूब आनंद

11 एमडीएस-61 केप्शनः कवि सम्मेलन में कविता पाठ करते हुए कवि।

11 एमडीएस-62 केप्शनः कवि सम्मेलन में मौजूद श्रोता।

गरोठ। नईदुनिया न्यूज

पोरवाल नवयुवक मंडल एवं गरोठ युवा मंच गरोठ के तत्वावधान में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन हुआ। सुबह चार बजे तक काव्यप्रेमी कविताओं के रस में डूबे रहे। मुंबई से आए लॉफ्टर विजेता कवि सुरेश अलबेला ने देशभक्ति पर कविता सुनाई कि 'जाहिल था मैं मां-बाप की सेवा न कर सका, मैं उनके दिए प्यार की इज्जत नहीं कर सका... लपेट तिरंगा बदन पे लौट आऊंगा'। फिरोजाबाद से आए शायर कवि हाशिम फिरोजाबादी ने देश में ब़ढ़ती दुष्कर्म की घटनाओं पर तंज कसते हुए कविता सुनाई। इंदौर से आए युवा गीतकार अमन अक्षर ने भगवान श्रीराम पर एक सुंदर कविता सुनाई। मेरठ के युवा कवि एवं मंच संचालक प्रशांत अग्रवाल ने भी संयुक्त परिवार एवं एकल परिवार की स्थिति पर शानदार कविता प्रस्तुत की। मालवा क्षेत्र के सबसे लोकप्रिय हास्य कवि जॉनी बैरागी ने हास्य रचनाओं से जनता को खूब मनोरंजन कराया। जयपुर के हास्य कवि कमल मनोहर ने राजनीतिक दलों पर जमकर कविता पाठ कर लोगों को अपने 30 मिनट के कविता पाठ में सबको हंसा-हंसा कर लोटपोट कर दिया। लखनऊ के ओजस्वी कवि प्रख्यात मिश्रा ने कहा कि भगवान श्रीराम प्रचार नहीं, विचार का विषय हैं। नोएडा के ओजस्वी कवि अमित शर्मा ने कहा कि युवा देश का जब रण में अपनी ताकत तोलेगा, चप्पा-चप्पा इस धरती का वंदे मातरम बोलेगा। कानपुर के हास्य कवि हेमंत पांडेय, कवियत्री सुमित्रा सरल ने भी शानदार प्रस्तुति दी। अतिथि सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग, युवक कांग्रेस राष्ट्रीय समन्वयक सोमिल नाहटा, गरोठ एसडीएम केसी ठाकुर, मंदसौर जिला प्रेस क्लब अध्यक्ष नरेंद्र अग्रवाल, भाजयुमो के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष विनीत राजेश यादव, मप्र अग्रवाल महासभा मंदसौर जिलाध्यक्ष राजमल गर्ग, गरोठ के समाजसेवी डॉ. संजय पंजाबी, पोरवाल समाज गरोठ अध्यक्ष राधेश्याम सेठिया, युवक कांग्रेस आईटीसेल प्रदेश महामंत्री दिलीप रत्नावत खड़ावदा, ठेकेदार राजेंद्र भलवारा थे। समिति संयोजक जगदीश अग्रवाल, अध्यक्ष पंकज सेठिया, कोषाध्यक्ष संजय गुप्ता ने अतिथियों एवं कवियों का स्वागत सम्मान कर स्मृति चिन्ह भेंट किए। विनायक ग्रुप गरोठ के सहयोग पर गरोठ नगर सुरक्षा समिति के कार्यकर्ताओं को भी मंच पर आमंत्रित कर प्रतीक चिन्ह देकर दुपट्टा ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। संचालन लक्ष्मीनारायण मांदलिया ने किया। आभार संयोजक जगदीश अग्रवाल ने माना।