पेज 13 पर फर्स्ट लीड----

फ्लैग- युवराजसिंह हत्याकांड : दीपक तंवर के साथ मिलकर एक माह पहले रची थी हत्या की साजिश

पुलिस ने आठ आरोपित नामजद किए, चार गिरफ्तार, चार फरार

सोनू गोस्वामी हत्याकांड, केबल विवाद की रंजिश में हुई हत्या

12 एमडीएस-53 केप्शनः कंट्रोल रूम पर जानकारी देते एसपी, पुलिस गिरफ्त में चारों आरोपित।

12 एमडीएस-60 केप्शनः दीपक तंवर

12 एमडीएस-61 केप्शनः विक्की गौसर

मंदसौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

युवराजसिंह हत्याकांड के मामले में शनिवार को पुलिस कंट्रोल रूम पर पर्दाफाश में एसपी हितेश चौधरी ने बताया है कि अभी तक पकड़े गए आरोपितों से हुई पूछताछ से उजागर हुआ है कि हत्या का षड्यंत्र रचने में बजरंग दल नगर संयोजक विक्की गौसर भी शामिल है। दीपक तंवर को खतरा था कि युवराज उसे मरवा सकता है। इसीलिए एक माह पहले ही दीपक व विक्की ने ग्राम अलावदाखेड़ी में हत्या की योजना बनाई थी। पुलिस ने मामले में चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है, चार अन्य फरार हैं। सोनू गोस्वामी हत्याकांड, केबल विवाद भी हत्या का एक कारण बताया जा रहा है।

कंट्रोल रूम पर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी हितेश चौधरी ने बताया कि दीपक तंवर व युवराजसिंह चौहान की टीवी केबल व अन्य व्यावसायिक प्रतिद्वंद्विता के चलते पूर्व से ही विवाद चला आ रहा था। दीपक तंवर को यह आभास हो रहा था कि युवराजसिंह कुछ दिनों से त्योहारों के दौरान उसे मारना चाह रहा है। इसके चलते लगभग एक माह पहले दीपक तंवर एवं विक्की गौसर ने अलावदाखेड़ी में अपने अन्य साथियों अंकित तंवर, छोटू उर्फ फैजान, नागेश उर्फ लाला गोस्वामी, अनिल दड़िंग, सुनील गोस्वामी तथा अनीस मेव से मिलकर हत्या करने की योजना बनाई। आरोपितों को शक था कि अक्टूबर 2017 में सोनू गोस्वामी की हत्या करने वाले लल्लू उर्फ ललित सिकलीगर की प्रत्यक्ष, अप्रत्यक्ष रूप से युवराजसिंह मदद करता था। सोनू गोस्वामी आरोपितों का रिश्तेदार एवं सहकारोबारी होने के कारण भी युवराजसिंह को मारने के लिए भी ताक में थे।

बाक्स ----------------

अलावदाखेड़ी में जाकर बनाई योजना और एक-दूसरे से संपर्क तोड़ लिया

पुलिस के अनुसार करीब एक माह पहले दीपक तंवर एवं वि-ी गौसर ने ग्राम

अलावदाखेड़ी में जाकर अंकित तंवर, नागेश उर्फ लाला गोस्वामी, छोटू उर्फ फैजान, अनीस मेव, सुनील गोस्वामी तथा अनिल दड़िंग के साथ मिलकर युवराजसिंह की हत्या की योजना बनाई थी और कहा कि एक माह में हत्या करना है। उसके बाद सभी ने दीपक ने इन सबसे संपर्क तोड़ दिया था। एक माह से आपस में मिलना-जुलना भी कम कर दिया था।

बाक्स -------------

किसने क्या किया

दीपक से बात होने के बाद अंकित, नागेश गोस्वामी, छोटू, अनीस मेव व अनिल दड़िंग व सुनील गोस्वामी ने युवराजसिंह चौहान के घर के आसपास की रैकी प्रारंभ कर दी गई थी। वारदात वाले दिन अंकित तंवर एक बाइक चला रहा था, दूसरी बाइक से अनिल दड़िंग रैकी कर रहा था। अनीस मेव टियागो कार से छोटू को लेकर आया था। गीता भवन के यहां आकर कार से छोटू उतरा, लाला गोस्वामी भी वहां पहुंचा और अंकित भी तीनों ने एक-एक फायर किया। उसके बाद अंकित की मोटरसाइकल पर बैठकर भाग गए। टियागो कार के साथ अभी अनीस फरार ही है। पुलिस ने छोटू उर्फ फैजान, अंकित तंवर, नागेश गोस्वामी व अनिल दड़िंग को गिरफ्तार कर हत्याकांड में प्रयुक्त दो पिस्टल एक 12 बोर का कट्टा, पांच जिंदा राउंड एवं दो खाली खोके जब्त किए हैं। साथ ही आरोपितों द्वारा रैकी एवं घटना में प्रयुक्त पल्सर मोटरसाइकिल (एमपी-14 एमएस-5748) व एक बिना नंबर की पल्सर मोटरसाइकिल जब्त की है।

बॉक्स ---------

यह हुए गिरफ्तार

- छोटू उर्फ फैजान पिता मुजफ्फर रिजवी (20) निवासी ग्राम अलावदाखेड़ी

- अंकित पिता अशोक तंवर (25) निवासी अम्बेडकर चौराहा 12 क्वार्टर

- नागेश उर्फ लाला पिता दिनेश गोस्वामी (24) निवासी बसेर कॉलोनी

- अनिल पिता गोकुल दड़िंग (23) निवासी ग्राम अलावदाखेड़ी

बॉक्स ------

ये हैं अभी फरार

- दीपक उर्फ गब्बर पिता जीवन तंवर निवासी तंवर कॉलोनी

- विक्की उर्फ हेमंत पिता जीवनलाल गौसर निवासी तंवर कॉलोनी

- अनीस पिता रईस मेव निवासी सांई मंदिर के पास अभिनंदन नगर

- सुनील पिता चंदरगिरी गोस्वामी निवासी सम्राट होटल के पीछे पारख कॉलोनी

बाक्स --------

आरोपितों का आपराधिक रिकॉर्ड-

1. विक्की उर्फ हेमंत पिता जीवनलाल गौसर निवासी तंवर कॉलोनी

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 557/02 में भादसं की धारा 323, 294, 506, 34।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 74/03 में भादसं की धारा 294, 323, 506

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 544/04 में भादसं की धारा 341, 323, 434, 34।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 487/15 में भादसं की धारा 420, 327, 507, 452, 294, 34, 384, 386।

- सीतामऊ थाने में 354/19 भादसं की धारा 353, 332, 333, 341, 147, 749, 188।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 610/19 में भादसं की धारा 302, 120बी, 34 एवं आर्म्स एक्ट की धारा 25, 27

2. अनीस पिता रईस उर्फ हरीश मेवाती (18) निवासी अभिनंदन नगर

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 144/16 में भादसं की धारा 323, 294, 506, 34।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 163/18 में भादसं की धारा 341, 366, 323, 506, 34।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 610/19 में भादसं की धारा 302, 120बी, 34 व आर्म्स एक्ट की धारा 25, 27

3. नागेश उर्फ लाला पिता दिनेश गोस्वामी निवासी बसेर कॉलोनी

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 427/17 में भादसं की धारा 294, 323, 506, 34।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 610/19 में भादसं की धारा 302, 120बी, 34 व आर्म्स एक्ट की धारा 25, 27।

4. अनिल पिता गोकूल दड़िंग निवासी ग्राम अलावदाखेड़ी

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 514/18 में भादसं की धारा 341, 323, 294, 34, 325।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 209/19 में भादसं की धारा में 323, 294, 506, 34।

- शहर कोतवाली में प्रकरण क्र. 610/19 में भादसं की धारा में 302, 120बी, 34 व आर्म्स एक्ट की धारा 25, 27।