कनघट्टी। सावन बीतने के बाद भादवा में भी लगातार बरसात से ग्राम सेमली, सूपड़ा, अमरपुरा, खखराई, निनोरा, खोखरा आदि गांवों में खेतों की फसले पूरी तरह से खराब हो गई है। इसके बाद भी प्रशासन द्वारा निरीक्षण नहीं किया जा रहा है। एक ओर तो किसानों को अभी तक कर्जमाफी का लाभ नहीं मिला है। वही किसानों को अब ये तनाव हो रहा है कि किसान बीमा भी हाथ से नहीं चला जाएं। किसान भैरूलाल कुमावत ने बताया कि मेरे खेत मे दो माह से अधिक समय से पानी भरा है। खड़ी सोयाबीन को भी काटकर पशुओं को नहीं खिला सकते हैं। अशोक पाटीदार ने बताया कि खेत में उड़द की फसल खड़ी है पर फलिया नहीं है इस बार पूर्ण रूप से नष्ट हो चुकी है। किसान कारूलाल प्रजापत ने बताया कि शासन जल्दी ही सर्वे कराकर किसानों को राहत दे। गोपाल कुमावत, मदनलाल पाटीदार, शिवलाल पाटीदार, कंवरलाल वातरा, राजेश कुमावत, तुलसीराम कुमावत आदि ने बताया कि इस बार पानी अधिक गिर रहा है फसले बरबाद हो गई है। जल्द से जल्द शासन ध्यान दे।