गरोठ में झमाझम, एक दिन में 74 मिमी वर्षा

सबसे ज्यादा शामगढ़ में हो चुकी है 208 मिमी वर्षा

मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के शामगढ़, गरोठ क्षेत्र में मानसून की मेहरबानी बनी हुई है। गरोठ में 24 घंटे में रिकार्ड 74 मिमी वर्षा दर्ज हुई। इसके साथ ही जिले में वर्षा का आंकड़ा चार इंच के पार हो गया है। गरोठ व शामगढ़ क्षेत्र में हो रही झमाझम के बीच जिले के अन्य क्षेत्रों में भी कहीं तेज व कहीं धीमी वर्षा हो रही है। बुधवार को भी सुबह से ही आकाश में बादल छाये रहे। शाम को मंदसौर नगर में कुछ देर रिमझिम वर्षा हुई। अब तक जिले में 113.4 मिमी वर्षा दर्ज हो चुकी है, जबकि पिछले साल छह जुलाई तक 122.6 मिमी वर्षा हो चुकी थी।

इस साल देरी से मानसून की आमद हुई। अब धीरे-धीरे जिले में मानसून की छाने लगा है। तेज वर्षा का इंतजार कर रहे गरोठ व क्षेत्र के लोगों का इंतजार मंगलवार को पूरा हो गया। इंतजार के बाद गरोठ में तेज वर्षा हुई। करीब दो घंटे तक हुई वर्षा से पूरे शहर में कई मार्गो पर पानी भर गया। कच्चे मार्गो पर कीचड़ हो गया है। इसके कारण लोगों को आवाजाही में दिक्कते हुई। गरोठ में मंगलवार सुबह आठ बजे से बुधवार को 24 घंटे समाप्त होने तक 74 मिमी यानि तीन इंच वर्षा दर्ज की गई। क्षेत्र में तेज वर्षा से किसान, व्यापारी सभी खुश हो गये। इसके साथ ही जल स्त्रोतों में भी पानी की आवक हुई है। इसके अलावा भावगढ़ में 24 मिमी वर्षा दर्ज हुई। जिले के सभी क्षेत्रों में कहीं तेज कहीं धीमी वर्षा हुई। जिले में वर्षा का दौर जारी रहने से लोगों को गर्मी से राहत मिली। जिले में अब तक चार इंच वर्षा दर्ज हो चुकी है। बुधवार को भी जिलेभर में बादल छाये रहे। शाम को संजीत में तेज वर्षा हुई, वहीं मंदसौर नगर में कुछ देर बूंदाबांदी हुई।

शामगढ़ में सबसे ज्यादा भावगढ़ में सबसे कम हुई वर्षा

जिले में इस साल मानसून देरी से आया है। इसके बावजूद शामगढ़ में वर्षा लगातार हो रही है। शामगढ़ में वर्षा का आंकड़ा आठ इंच के पार हो गया है,यहां पर अब तक 208 मिमी वर्षा दर्ज हो चुकी है। वहीं जिले में सबसे कम इसी साल बनाये गये नये वर्षा मापक केन्द्र भावगढ़ में हुई है। भावगढ़ में अब तक 69.6 मिमी वर्षा हुई है। वहीं धुंधड़का में 70 मिमी, मल्हारगढ़ में 71 मिमी वर्षा अब तक हुई है।

वर्षा होते ही बोवनी में जुट गए किसान

लगातार हो रही हल्की व तेज वर्षा के बाद अब खेतों में भी नमी आने लगी है। इसके बाद किसान अब बोवनी में जुट गये है। शामगढ़, गरोठ, संजीत, सुवासरा में चार इंच से अधिक वर्षा हो चुकी है, इन क्षेत्रों में अच्छी वर्षा होने के बाद किसान बोवनी में जुट गये है। वहीं मंदसौर, सीतामऊ, भानपुरा, मल्हारगढ़, भावगढ़, कयामपुर क्षेत्र में अभी बोवनी का काम धीमी गति से ही चल रहा है। इन क्षेत्रों के किसान एक-दो तेज वर्षा का इंतजार कर रहे है।

मंदसौर जिले में अब तक हुई वर्षा

स्थान 24 घंटे में 6 जुलाई 22 6 जुलाई 21

मंदसौर 11.0 83.0 171.0

सीतामऊ 3.8 89.0 213.6

सुवासरा 5.6 102.2 143.2

गरोठ 74.0 162.8 80.8

भानपुरा 14.4 75.8 31.4

मल्हारगढ़ 9.0 71.0 170.0

धुंधड़का 9.0 70.0 116.0

शामगढ़ 14.3 208.7 78.8

संजीत 17.0 111.0 68.0

कयामपुर 9.3 90.3 150.8

भावगढ़ 24.1 69.6 0.0

औसत 19.5 113.4 122.6

जिले की औसत वर्षा - 32.5

(स्त्रोतः भू-अभिलेख विभाग मंदसौर, आंकडे मिमी में छह जुलाई सुबह आठ बजे तक।)

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close