मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर सहित जिलेभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आने के बाद फिर से संक्रमित बढ़ रहे हैं, पर लोगों की लापरवाही बढ़ती ही जा रही है। वहीं प्रशासन ने सैंपलिंग भी कम कर दी है। इस कारण भी पॉजिटिव मरीजों की संख्या कम हो रही है, पर वायरस का असर कम नहीं हो रहा है। अभी कोरोना की वैक्सीन जिले में आई जरूर है पर वह फ्रंटलाइन वर्कर के लिए है, आमजन को वैक्सी न लगाने में अभी देर लगेगी। पर लोग मान नहीं रहे हैं। जिले में बीते 400 घंटों में 225 संक्रमित मिल चुके हैं। इसके बाद भी कोई समझने को तैयार नहीं है। इसी प्रकार 54 दिन में ही मरीजों की संख्या 589 तक पहुंच गई है। गुरुवार को तो मकर संक्रांति के चलते लोगों ने जगह-जगह जमावड़ा लगाया। खानपान की दुकानों व चाय के ठेलों पर लोग भीड़ लगाए खड़े रहे। कोई जिम्मेदार भी समझने को तैयार नहीं था। दुकानों पर लोग जमा होकर दो गज की दूरी के नारे को हवा में उड़ा रहे हैं। जबकि बार-बार समझाइश दी जा रही है कि कोरोना काफी जानलेवा है और एक बार संक्रमित होने के बाद संबंधित व्यक्ति को बहुत परेशानी होती है। इसलिए किसी भी तरह की ढिलाई नहीं बरतें और मास्क लगाकर व दो गज की दूरी रखकर सुरक्षित रहें।

कलेक्टर मनोज पुष्प ने कहा है कि कोरोना वायरस कोविड-19 वैश्विक महामारी के वर्तमान परिदृश्य को देखते हुए शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मास्क का उपयोग अनिवार्य करें। यदि किसी को सर्दी, खांसी, बुखार, सांस लेने में परेशानी हो रही है तो बिना किसी देरी के तुरंत नजदीक के फीवर क्लीनिक या शासकीय स्वास्थ्य संस्था में पहुंचकर स्वास्थ्य परीक्षण कराएं एवं अपना सैंपल देकर कोरोना वायरस की जांच कराएं। सदैव मास्क का उपयोग करें। नियमित अंतराल पर अपने हाथों को साफ पानी एवं साबुन या सैनिटाइजर से साफ करें। इससे आप स्वयं को अपने बुजुर्ग माता-पिता, छोटे-छोटे बच्चों को स्वस्थ एवं सुरक्षित रखते हुए कोरोना महामारी पर विजय प्राप्त कर सकेंगे। 10 वर्ष तक के बच्चों तथा वृद्धजनों एवं गंभीर बीमारियां जैसे हृदय रोग, कैंसर, डायबिटीज, टीबी, किडनी रोग, लीवर रोग से पीड़ित व्यक्तियों में बीमारी का खतरा अधिक होता है। अतः ऐसे व्यक्ति विशेषज्ञ चिकित्सकों से अपना नियमित स्वास्थ्य परीक्षण कराकर दवाओं का सेवन करते रहें। किसी भी प्रकार की अफवाह में नहीं आएं और न ही अफवाह फैलाएं। घबराएं नहीं, सावधानी ही सुरक्षा है।

-कोरोना संक्रमण से बचने के लिए अभी मास्क ही वैक्सीन है, मास्क जरूर लगाएं और अन्य लोगों को भी प्रेरित करें। लोग संकल्प लें कि जब भी घर से निकलेंगे तो मास्क जरूर लगाएंगे। -संदीप देसाई

-सभी यह समझ लें कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाना जरूरी है। सभी की जिम्मेदारी है कि संक्रमण से बचने के उपायों का गंभीरता से पालन करें। -रूपेश रायका

-मास्क के प्रति आमजन को जागरूक करने के लिए नईदुनिया के अभी मास्क ही वैक्सीन अभियान की बहुत आवश्यकता है। संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क के साथ ही शारीरिक दूरी भी महत्वपूर्ण है।-मोनू सोनी

-अभी भी सभी को मास्क लगाना चाहिए। मास्क से ही स्वयं और पूरे परिवार की सुरक्षा है। इस मामले में कोई भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। भीड़ में भी जाने से बचे और दो गज की दूरी का पालन करें।-बलदेवराज देवासी

-बाहर निकलने पर मास्क पहनना और हर 20 से 25 मिनट में हाथ धोना कोरोना संक्रमण से बचने के सबसे बड़े हथियार है। सभी अपनी जिम्मेदारी समझे और खुद जागरूक होने के साथ ही अन्य लोगों को भी जागरूक करें।- कमला चौहान

-यह सत्य बात है कि मास्क लगाएंगे तो ही बीमारियों से बचे रहेंगे। परिवार में बच्चे, बुजुर्ग सभी को यदि सुरक्षित रखना है तो सभी कोविड नियमों का पालन करें। घर से बाहर निकलते समय सभी मास्क अवश्य पहने।-मुकेश कहार

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस