लामगरी, रातीखेड़ी के ग्रामीण तालाब की समस्या से परेशान, जनसुनवाई में सुनाई पीड़ा

10 एमडीएस- 64 - कलेक्ट्रेट में जनसुनवाई करते एडीएम बीएल कोचले, जिपं सीईओं ऋषभ गुप्ता, डिप्टी कलेक्टर संदीप शिवा, तहसीलदार नारायण नांदेड़ा, नायब तहसीलदार वैभव जैन आदि अधिकारी।.नईदुनिया

10 एमडीएस- 66 - लामगरी और रातीखेड़ी के ग्रामीणों ने तालाब को लेकर की शिकायत। नईदुनिया

मंदसौर। नईदुनिया प्रतिनिधि

साहब, हमारे खेतों में तीन-तीन फीट पानी भरा हुआ है। लामगरी तालाब के पानी को लामगरा गांव के लोग आगे नहीं छोड़ने दे रहे हैं। हम खेती भी नहीं कर पा रहे हैं। आप हमारी समस्या का समाधान कीजिए। यह पीड़ा दलौदा तहसील के ग्राम लामगरी और रातीखेड़ी के ग्रामीणों ने जनसुनवाई में पहुंचकर सुनाई।

ग्रामीणों ने बताया कि तालाब में अधिक पानी होने के कारण वर्षा ऋतु से ही हमारे खेत डूबा हुआ है। खेतों में आज भी तीन-तीन फीट तक पानी भरा हुआ है। हम तालाब का पानी छोड़ने जाते हैं तो लामगरा गांव के लोग हमारे साथ विवाद कर रहे हैं। हमें पानी नहीं छोड़ने देते हैं। तालाब का पानी आगे छोड़ा जाएगा तभी हमारी खेती शुरू हो पाएगी।

समस्या सुनाने पहुंचे ग्रामीणों में मेमूनाबी मंसूरी, कमलाबाई, चंदाबाई, लीलाबाई, कौशल्याबाई, परमानंद, कंवरलाल, गौतमलाल आदि शामिल थे। मंगलवार को कलेक्ट्रेट में एडीएम बीएल कोचले, जिला पंचायत सीईओं ऋषभ गुप्ता, डिप्टी कलेक्टर संदीप शिवा, तहसीलदार नारायण नांदेड़ा, नायब तहसीलदार वैभव जैन आदि अधिकारियों ने जनसुनवाई की।

दिव्यांग ने सुनाई पीड़ा, साहब वे मुझे मारते है, खेत पर भी नहीं जाने देते

10 एमडीएस-67 : हजारी बंजारा, शिकायतकर्ता

भानपुरा के ग्राम कामली निवासी दिव्यांग हजारी पिता लक्खा बंजारा ने शिकायत की है। इसमें बताया कि मेरे दो बीघा खेत पर गांव के ही मीणा पटेल रतनलाल के पुत्र मोहन, नारायण, तुलसीराम तथा नरसिंह ने छह महीने से कब्जा कर रखा है। मैं खेत पर जाता हूं तो मुझे गाली देकर मारपीट करते हैं। मुझे खेत से भगा देते है। मैंने इनके खिलाफ छह माह पहले में भानपुरा थाने पर रिपोर्ट भी दर्ज करवाई है, लेकि न अब तक कोई सुनवाई नही हुई है।

घर तबाह हो गए, नहीं मिला मुआवजा

मंदसौर तहसील के ग्राम अरनिया एवं बाजखेड़ी के लोगों ने पटवारी शबिया पयामी के खिलाफ रिश्वत मांगने की शिकायत की है। गांव के निवासी आफताब, आमना, सिकंदर, नजमा, लाड़ाबाई, अमीन, लालीबाई, मोहम्मद आदि लोगों ने जनसुनवाई में पहुंचकर इस संबंध में एक आवेदन सौंपा। इन सबका कहना है कि अतिवृष्टि के कारण हमारी फसलें बर्बाद हो गई थी। मकान गिर गए। घर का सभी सामान नष्ट हो गया। इसके बाद भी हमें मुआवजा नहीं मिला है। पटवारी से मुआवजा राशि मांगते हैं तो पटवारी कहती है कि पहले मुझे 10-10 हजार रुपए दो तो मैं तुम्हारे प्रकरण तैयार करुं। इसके बाद ही तुम्हें मुआवजा मिलेगा। जबकि गांव के लोग मुआवजे के लिए कई बार पटवारी को आधार कार्ड, मकान के फोटो, खाते की डायरी, फोटो आदि दस्तावेज दे चुके हैं। इसके बाद भी हमको आज तक कोई मुआवजा राशि नही मिली है।

दुकानों के बाहर से सब्जी बेचने वालों को हटाया जाए

10 एमडीएस- 63 : सम्राट मार्केट के व्यापारियों ने सब्जी वालों के खिलाफ की शिकायत। .नईदुनिया

सम्राट मार्केट नई सब्जी मंडी के व्यापारियों ने अपनी दुकान के बाहर सब्जी बेचने वालों के खिलाफ जनसुनवाई में शिकायत की है। व्यापारियों का कहना है कि हमारी दुकान के सामने बैठने वाले सब्जी विक्रेताओं को हटाने के लिए हमने कई बार नगर पालिका में शिकायत की है, लेकि न सुनवाई नहीं हुई है। जबकि सब्जी बेचने वालों के लिए नगर पालिका ने उन्हें अलग जगह दी है, उसके बावजूद सब्जी विक्रेता महिलाएं हमारी दुकानों के बाहर ही सब्जी के टोकरे लेकर बैठती हैं। इससे हमारी दुकानों में ग्राहकों के आने-जाने में परेशानी होती है। मना करने पर भी सब्जी वाली वहां से टोकरे नहीं हटाती है। विरोध करने पर बोलती है हम नगर पालिका को यहां पर बैठने के पैसे देते हैं। यहां से हटेंगे नहीं। शिकायत के दौरान शाबिर हुसैन, वसीम, इमरान, आसीफ, रियाज, विजय, गोल्डी, हैदर अली, कि शोर, अनिल, महेश आदि व्यापारी मौजूद थे।

दुखी पुलिसकर्मी ने जनसुनवाई में सुनाई पीड़ा

10 एमडीएस- 65 : बाढ़ पीड़ित पुलिसकर्मी ने जनसुनवाई में एक्सरे दिखाते हुए। नईदुनिया

ग्राम अरनियानिजामुद्दीन निवासी पुलिसकर्मी आरक्षक देवीलाल अहिरवाल ने भी जनसुनवाई में अपनी शिकायत सुनाई। देवीलाल का कहना है कि अतिवृष्टी के कारण मेरा घर डूब गया था, मवेशी मर गए थे। नुकसान भी बहुत हुआ है, लेकि न न तो कोई जिम्मेदार हमारे घर देखने आया है और न मुझे कोई मुआवजा राशि मिली है। हमारी तो कोई भी नहीं सुनता है, मैं बहुत परेशान हूं।

जनसुनवाईं में 120 आवेदकों ने सौंपा आवेदन

मंदसौर। मंगलवार को जिला कलेक्टर कार्यालय में साप्ताहिक जनुसनवाई कार्यक्रम में जिलेभर से आए 120 आवेदकों की समस्याएं सुनी। जनसुनवाई में आवेदकों ने अपनी समस्या, शिकायत, मांग, आर्थिक सहायता संबंधी आवेदन दिए। जनसुनवाई में दौरान वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने सभी आवेदकों से आवेदन पत्र प्राप्त कर उन पर कार्रवाई के लिए विभाग प्रमुखों की ओर प्रेषित कि या। जनसुनवाई में बीपीएल सूची में नाम जुड़वाने, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत आवास मंजूर करने, निजी भूमि पर अवैध अतिक्रमण, भूमि विवाद, बीमारी सहायता, आपसी विवाद, शिक्षा ऋण दिलाने, सामुदायिक सुविधा घर (कम्युनिटी टायलेट) बनवाने आदि विषयों के आवेदन प्राप्त हुए। जिनके निवारण हेतु संबंधित विभागाधिकारियों को निर्देश दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020