शामगढ़ (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना काल के लंबे अंतराल के बाद अब ट्रेन के सामान्य कोच में सफर करने वाले यात्रियों के लिए अच्छी खबर आ रही हैं। 29 जून से सभी ट्रेनों में खिड़की से टिकट लेकर यात्रा करने की प्रक्रिया शुरू की जा रही हैं 5 जुलाई तक शत-प्रतिशत ट्रेनों में सामान्य कोचों के लिए आरक्षण की बाध्यता समाप्त कर दी जाएगी। इससे यात्रियों को 15 -20 रुपये का लाभ होगा। साथ ही सामान्य कोच में सीट संख्या के आधार पर टिकट जारी करने की बाध्यता भी खत्म हो जाएगी। सामान्य टिकट पर किसी भी मेल, सुपरफास्ट व एक्सप्रेस ट्रेन में यात्री सफर कर सकते हैं।

जानकारी अनुसार वर्तमान में सामान्य श्रेणी के कोच के लिए टिकट पर 15 रुपये चार्ज देना पड़ रहा है। अभी दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर संचालित ट्रेनों में सिर्फ एक तरफ के लिए ही सामान्य कोच के लिए खिड़की से टिकट की सुविधा है। कोरोना काल में रेलवे ने ट्रेनों में भीड़ को काबू करने के लिए सामान्य कोच में आरक्षण की व्यवस्था लागू की थी। सामान्य कोच में टिकट के लिए भी आरक्षण केंद्रों पर जाना पड़ रहा था। सामान्य कोच में टिकट बुक कराने के लिए यात्री को किराये के अलावा 15 रुपये आरक्षण शुल्क भी देना पड़ रहा था। पश्चिम मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी बीएन गुप्ता ने बताया कि अधिकांश ट्रेनों में सामान्य टिकट पर यात्रा की सुविधा शुरू कर दी है। पश्चिम मध्य रेलवे की ट्रेनों में यह व्यवस्था 29 जून से शुरू हो जाएगी। इसके बाद 5 जुलाई तक शत-प्रतिशत ट्रेनों के सामान्य कोच के लिए आरक्षण कराने की बाध्यता समाप्त कर दी जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close