मंदसौर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में कोविड-19 महामारी की दूसरी लड़ाई में शुरुआती परेशानियों के बाद अब स्वास्थ्यल अमला बेहतर कार्य में जुटा है। इसके चलते लोग ठीक होकर घरों को भी जाने लगे हैं। 24 दिनों में 1627 मरीज ठीक होकर घर भी गए है। इधर जिला अस्पताल में जल्दघ ही ब्लमड सेपरेशन मशीन चालू हो जाएगी। इससे प्लाज्माथैरेपी के लिए भी मरीजों को इंदौर, उदयपुर या अहमदाबाद नहीं जाना पड़ेगा।

जिला चिकित्सालय सहित जिला मुख्याीलय व तहसील मुख्यालियों पर बनाए गए कोविड केयर सेंटर पर आ रहे मरीजों अच्छे उपचार के चलते ठीक होकर घर भी जा रहे हैं। जिले में 15 अप्रैल से 9 मई तक कोविड 1627 मरीज स्वस्थ होकर घर गए है। इन मरीजों में कई ऐसे थे जो गंभीर अवस्था में जिला चिकित्सालय में लाए गए थे। जिले में शासकीय कोविड अस्पताल से 1342 तथा प्राइवेट संस्थाओं से 189 मरीजों को घर भेजा गया है। इनमें जिला चिकित्सालय मंदसौर से 871, जीएनएमटीसी मंदसौर से 292 , पालिटेक्निकल कॉलेज मंदसौर से 73, आईटीआई कॉलेज गरोठ से 54, शासकीय स्कूल कोविड केयर सेंटर शामगढ़ से 16, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सुवासरा से 1, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मल्हारगढ़ से 17, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नारायणगढ़ से 18 एवं प्राइवेट - कोविड केयर सेंटर, सिद्धिविनायक हास्पिटल से 2, अजय हास्पिटल से 8, एसपीए कोविड सेंटर ऋषियानंद आश्रम के पास 25, आइएमए अग्रवाल धर्मशाला से 15, मिरेकल से 4 व्यक्ति स्वस्थ होकर गए है। जिला चिकित्सालय में जल्द ही प्लाज्माथैरेपी भी शुरू की जा रही है जिससे गंभीर मरीजों को बाहर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और उनका इलाज जिला चिकित्सालय मंदसौर में संभव हो सकेगा। इसके लिए तैयारी की जा रही है।

गरोठ में 15 मरीज ठीक होकर गए

गरोठ। गरोठ कोविड केयर सेंटर से सोमवार को 15 मरीज ठीक होकर सकुशल घर लौटे। अब कोरोना वायरस से मुक्ति पाने के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं सेंटर से मिलने लगी हैं। मरीजों ने कहा कि किसी प्रकार से घबराने की आवश्यकता नहीं है। यहां तक कि अब जिला अस्पताल में भी आने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है। सभी को कोविड केयर सेंटर से अच्छी व्यवस्था मिलने लगी है। गरोठ कोविड केयर सेंटर से संक्रमण से स्वस्थ हुए लोगों ने कहा कि हम सभी कुछ दिन से कोविड सेंटर पर भर्ती थे। इस सेंटर पर हमें सभी व्यवस्थाएं अच्छी देखने को मिली।

नारायणगढ़ सेंटर से 4 मरीज सकुशल घर लौट

नारायणग़ढ़। नारायणगढ़ कोविड केयर सेंटर से भी सोमवार को 4 संक्रमित मरीज ठीक होकर सकुशल घर लौटे। नारायणगढ़ कोविड केयर सेंटर से स्वस्थ हुए लोगों ने कहा कि हम सभी कुछ दिन से कोविड सेंटर पर भर्ती थे। इस सेंटर पर हमें सभी व्यवस्थाएं अच्छी देखने को मिली है। क्षेत्र के सभी लोगों से यही कहना चाहते हैं कि कोविड सेंटर का लाभ प्राप्त करें। व्यवस्थाओं के संबंध में अब घबराने की आवश्यकता नहीं है।

बहुत खराब स्थिति होने के बाद भी दो भाइयों ने हराया कोरोना को

मंदसौर। शहर के दो भाईयों ने भी फेफड़ों में ज्यादा संक्रमण होने के बाद भी कोरोना को हदा दिया है। पालिटेक्नी क कालेज कोविड केयर सेंटर जब राजेंद्र दुबे व संजय दुबे दोनों भाई भर्ती हुए थे तब संजय की स्थिति गंभीर थी। पर निरंतर उपचार से अब वह ठीक हो गए है। राजेंद्र दुबे ने बताया कि भर्ती के समय मैरे भाई की स्थिति बहुत ही खराब थी। चिकित्सकों की देख-रेख के कारण स्थिति में सुधार आया है। आज वह बहुत अच्छी स्थिति में हैं। यहां पर हमें न तो आक्सीजन की समस्या हैं और न ही दवाइयों की सारी व्यवस्थाचएं बहुत अच्छी रही। सभी चिकित्समक, नर्स तथा सफाई कर्मचारी को धन्यवाद देता हूं और सभी लोगों से यही कहना हैं कि जैसे ही आपको बीमारी के बारे में पता चले तो उसे छुपाए नहीं। शीघ्र ही अस्पताल पहुंचकर अपना इलाज कराएं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags