पिपलियामंडी (मंदसौर)। मंदसौर जिले में मल्हारगढ़ तहसील के ग्राम जेतपुरा में गुरुवार को सुबह समय पर एंबुलेंस नहीं मिलने से एक गर्भवती महिला का प्रसव ग्रामीणों को मजबूरन पाल की आड़ में सड़क किनारे ही कराना पड़ा। जेतपुरा की आशा कार्यकर्ता, दाई मां व अन्य महिलाओं की जागरूकता से जच्चा बच्चा दोनों को स्वस्थ अवस्था में निजी वाहन से मल्हारगढ स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जेतपुरा के ग्रामीण मदनसिंह, बंटी, जितेंद्र पाटीदार, हेमंत पाटीदार,परमेश्वर पाटीदार दशरथ आदि ने बताया गांव अमरपुरा निवासी गर्भवती महिला प्रसव पीड़ा के चलते अपने पति के साथ चिकित्सालय जा रही थी।

तभी जेतपुरा गांव के हनुमान मंदिर के समीप प्रसव पीड़ा बढ़ गई। मंदिर पुजारी आदेश बैरागी उनकी माताजी, आशा कार्यकर्ता शांता पोरवाल, धापूबाई सोलंकी, ज्ञानू धनगर, भगतदास बैरागी आदि ने सक्रियता दिखाते हुए पाल व कपड़ों की व्यवस्था कर प्रसूती करवाई। महिला ने स्वस्थ बालक को जन्म दिया। इस दौरान एम्बुलेंस के लिए 108 पर भी सूचना की मगर एम्बुलेंस पहुची ही नहीं। बाद में निजी वाहन से जच्चा बच्चा दोनों को मल्हारगढ अस्पताल पहुंचाया।

एंबुलेंस नहीं मिली तो पिकअप से पिपलियामंडी आ रहे थे। तभी प्रसव पीड़ा बढ़ने लगी तो गर्भवती महिला अपने पति सहित उतर गई। थोड़ी ही देर में प्रसव पीड़ा और बढ़ने लगी तो ग्रामीणों ने जेतपुरा की आशा कार्यकर्ता, दाई मा सहित अन्य महिलाओं की मदद से सड़क किनारे ही प्रसूती करवा दी। News Updating...

Posted By: Prashant Pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local