पलवई में बहू तो माल्या खेरखेड़ा में सास बनेगी प्रधान

मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पंचायत चुनाव के पहले चरण की मतगणना के बाद नए समीकरण बन रहे हैं। महिला आरक्षण के चलते चूल्हे चौके में लगी रहने वाली महिलाएं भी अब विभिन्ना पदों पर पहुंच रही हैं। शासन द्वारा जीत का प्रणाम पत्र देने के बाद मंदसौर जपं में दो पंचायतों में सास-बहु सरपंची करते हुए मिलेंगी। शनिवार को हुई मतगणना में सास कुसुमबाई आंजना माल्या खेरखेड़ा पंचायत में व बहू अन्नाू आंजना पलवई में सबसे आगे रही हैं।

मंदसौर जनपद की ग्राम पंचायत पलवई में सरपंच पद के लिए हुई मतगणना के बाद अन्नाू गुरदीप आंजना सबसे आगे रही हैं। उनका निकटतम प्रतिद्वंदी रोशनबाई कंवरलाल जाट से काफी करीबी मुकाबला रहा है और बढ़त आठ वोट की बताई जा रही हैं। यह ग्राम पंचायत चुनाव से पहले भी खासी सुर्खियों में थी। चुनाव मैदान में उतरे आंजना व जाट परिवारों में बरसों से दुश्मलनी चली आ रही हैं। चुनाव प्रचार के दौरान भी प्रारंभ में छुटपुट विवाद हुए थे तो एसपी अनुराग सुजानिया ने मतदान दिवस तक के लिए गांव में अस्थायी पुलिस चौकी ही खोल दी थी। इसके चलते चुनाव प्रचार के दौरान कोई विवाद नहीं हुआ। मतगणना में बीए अंतिम वर्ष में पढ़ रही अन्नाू आंजना सबसे अगे रही हैं। अन्नाू की सास कुसुमबाई आंजना ने पास ही स्थित ग्राम माल्या खेरखेड़ा में सरपंच प्रत्याशी थी और वहां मतगणना के बाद सबसे आगे रही हैं। अब प्रशासन से प्रमाण पत्र मिलने के बाद सास मालिया खेरखेड़ा और बहू पलवई की कमान संभालेगी।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close