मंदसौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में मई की शुरुआत में लगातार कोरोना संक्रमण बढ़ रहा था और पाजिटिविटी दर 22 प्रश तक पहुंच गई थी। अब अच्छी खबर यह है कि छह दिन से लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी हो रही है। 11 मई को तो पाजिटिविटी दर भी 11.72 प्रश तक आ गई है। इस दिन 1032 सैंपल की रिपोर्ट में 121 पाजिटिव मरीज मिले हैं जबकि 2 मई को पाजिटिविटी दर 22.11 प्रश थी। नए मरीज मिलने की तुलना में दुगुने ठीक होकर घर भी गए है। जिले में मई के 11 दिन में ही 1839 मरीज मिल चुके हैं। सक्रिय मरीज भी 1239 हो गए हैं।

जिले में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए जाने वाले आकड़ों की माने तो गुरुवार रात में 153 मरीज, शुक्रवार को 132, शनिवार को 133, रविवार को 126, सोमवार को 113 व मंगलवार को 121 कोरोना संक्रमित मिले हैं। यह लगभग एक हजार से ज्यादा सैंपल में मिले हैं। जिले में पाजिटिविटी दर लगातार नीचे की आ रही है यह अच्छा संकेत हैं। 2 मई को पाजिटिविटी दर 22.11 प्रश थी वह 7 मई को 17 प्रश, 10 मई को 12 प्रश व 11 मई को 11.71 प्रश पर आ गई है जो यह संकेत दे रही है कि जिले में महामारी का असर कम हो रहा है। लोगों द्वारा कोविड-19 के सुरक्षा उपायों का भी असर भी दिख रहा है। जिले में मौजूदा स्वास्थ्य अमला अपने स्तर पर कोरोना संक्रमितों के उपचार में पूरा जोर लगा रहा है। इसके परिणाम अब जाकर दिखने लगे हैं। तीन दिनों से लगातार कम मिल रहे मरीजों के बाद अगर यही ट्रेंड आगे भी बना रहेगा तो जिले के लिए सबसे राहत भरी खबर होगी। 5 मई को कुल 1414 सैंपल की रिपोर्ट में 248 मरीज, 6 मई को 1148 सैंपल की रिपोर्ट में 153 मरीज, 7 मई को 999 सैंपल की जांच में 132 मरीज, 9 मई को 1028 सैंपल की रिपोर्ट में 126, 10 मई को 875 सैंपल की जांच में 113 व 11 मई को 1032 सैंपल की जांच में 121 मरीज मिले हैं।

स्टाफ की कमी, स्वजन भरवाकर ला रहे आक्सीजन सिलिंडर

प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग मरीजों के स्वजन को अंदर आने से रोकना चाहता है, लेकिन अंदर इतना स्टाफ भी नहीं है कि मरीजों को आक्सीजन की जरूरत होने पर सिलिंडर रिफिल करा दे या लगा दे। ऐसे में दिनभर स्वजन ही छोटे सिलिंडर को आक्सीजन प्लांट से रिफिल कराकर कंधों पर ढोते हुए मरीजों तक पहुंचा रहे हैं। अस्पताल में प्रतिदिन लगभग 300 बड़े सिलिंडर लग रहे हैं और लगभग इतनी ही व्यवस्था रोज हो रही है। फिर भी इस बार तेजी से बढ़ते संक्रमितों ने पूरे सिस्टम को ध्वस्त होने की कगार पर खड़ा कर दिया है। मई के 11 दिन में कुल 1839 मरीज मिल चुके हैं। मंगलवार रात में 121 पाजिटिव मरीज मिले हैं। 41 दिनों में ही कुल मरीज 4395 पर पहुंच गए है। अब सक्रिय मरीज भी 1239 हो गए हैं।

260 ठीक हुए, 121 नए मरीज मिले

जिले में कोरोना की दूसरी लहर में सामुदायिक संक्रमण होने लगा है प्रतिदिन मरीज बढ़ते ही जा रहे हैं। मंगलवार रात में 121 मरीज मिले हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि इसी दिन 260 मरीज ठीक होकर घर भी गए है। संक्रमण की भयावहता के चलते मरीजों की मौत के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं। पर जिस तेजी से मरीज बढ़ रहे हैं, उतनी अस्पताल में व्यवस्था नहीं बची है। इसके चलते निजी कोविड केयर सेंटर भी प्रारंभ किए जा रहे हैं। 41 दिन में 4395 मरीज मिल चुके हैं जो मार्च में मिले कुल 417 मरीजों के 10 गुना के पार पहुंच गए है। जिले में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 7930 हो गई है। ठीक होकर घर जाने वाले 6622 हो गए हैं।

अभी भी मास्क नहीं पहन रहे

सीएम ने भले ही सार्वजनिक रूप से मास्क नहीं पहनने वाले लोगों पर कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं, लेकिन बताया जा रहा है कि पुलिस को विशेष आदेश है कि किसी पर भी डंडा नहीं चलाया जाए। इसी कारण जिले में प्रशासन कोई खास कार्रवाई नहीं कर रहा है। पिछले साल लंबा लाकडाउन झेलने के बाद भी लोग सीख लेने को तैयार नहीं है। कोरोना कर्फ्यू की घोषणा के बाद भी बाजार में बिना वजह घूमने वाले लोगों की संख्या कम नहीं है। तरह-तरह के बहाने बनाकर लोग खासकर युवा बाजार में आ रहे हैं।

कोरोना से बचने के लिए अभी भी करना है यह उपाय

-घर से बाहर निकलते समय हमेशा मास्क पहनें।

-बाजार में भीड़, सार्वजनिक कार्यक्रम में जाते समय लोगों से दो गज की दूरी बनाए रखें।

-हर 20 मिनट के अंतराल में साबुन से हाथ धोए।

-बाजार से घर आते समय या किसी से मिलने पर सैनिटाइजर का उपयोग करें।

लोग जिम्मेदार नागरिक बने, सुरक्षित रहे, मास्क लगाए और कोविड नियमों का पालन करे। खुद सुरक्षित रहेंगे तो आपका घर परिवार भी सुरक्षित रहेगा। जान है तो जहान है।

-सुरेंद्र जैन

सबका सहयोग मिलेगा तभी हम कोरोना को ख़त्म कर पाएंगे। यह किसी एक की लड़ाई नहीं है। सबका साथ जरुरी है। नियम और अनुशासन का पालन करके हमें कोरोना को हर हाल में हराना है।

-पवन शर्मा

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क महत्वपूर्ण सुरक्षा उपाय है। मास्क कोरोना संक्रमण के साथ ही फेफड़ों व सांस से जुड़ी बीमारियों के लिए भी काफी मददगार है। जब भी घर से बाहर निकले मास्क जरूर लगाए।

-यश लौहार

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क ही सबसे कारगर उपाय है। मास्क जरूर लगाएं और अन्य लोगों को भी प्रेरित करें। लोग संकल्प ले कि जब भी घर से निकलेंगे तो मास्क जरूर लगाएंगे।

-अभिषेक तिवारी

महामारी के समय घबराएं नहीं। लोग सूझबूझ व समझदारी के साथ आगे बढ़े, मास्क लगाए और दो गज की दूरी का पालन हमे कोरोना से सुरक्षा दे सकता है। मास्क बैक्टीरिया और वायरस से सुरक्षा देने में काफी मददगार है। जब तक वैक्सीन नहीं आती है तब तक मास्क ही हमारा सुरक्षा कवच है।

-प्रकाशचंद्र भुज

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण का सामना शासन-प्रशासन से सहयोग करके ही किया जा सकता है। संकट की इस घड़ी में हर किसी को इसके लिए भी सक्रिय होना चाहिए कि हम सबका सामाजिक व्यवहार बदले।

-रानू जैन

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags