मंदसौर। जनकुपुरा स्थित जैन पौषधशाला में त्रिस्तुतिक जैन समाज श्रीसंघ द्वारा आयोजित चातुर्मास में साध्वीश्री अमृतरसाश्रीजी, साध्वी श्री निरागरसाश्रीजी, साध्वीश्री जिनांशरसा श्रीजी की पावन निश्रा में तप आराधनाएं चल रही हैं। पर्यूषण महापर्व के दौरान 141 अठाई का कीर्तिमान रचा गया था। इसके अतिरिक्त मास क्षमण, 11 और 16 उपवास की तपस्याएं भी पूर्ण हुई है। इन सभी तपस्वियों का बहुमान मिश्रीलाल गजेंदकुमार हींगड़ परिवार द्वारा जैन महाविद्यालय में किया गया। इससे पहले सुबह 6ः30 बजे धनकुट्टा गली जनकूपुरा स्थित पद्मावती मंदिर से एक चैत्य परवाड़ी निकली। जो भगवान श्री अजीतनाथ मंदिर, भगवान आदिनाथ जैन मंदिर नयापुरा होते हुए नवलखा पाश्रर्वनाथ मंदिर महू-नीमच राजमार्ग पर पहुंची। जहां साध्वी अमृतरसाश्रीजी मसा ने कहा कि हमें सदैव अपने समाज के प्रति समर्पित भाव रखना चाहिए। कितनी भी परेशानियां, समस्याएं आए हमें जिनशासन के प्रति समर्पण को डिगने नहीं देना चाहिएं। तप आराधानाएं करने से कर्मों की निर्जला होती है। इस बार तपस्याओं का अंबार लगा ऐसे में तपस्वियों का बहुमान करना बहुत अच्छी बात है। कार्यकम में गजेंद्र हीगड़, हेमंत हींगड़, श्रेयांश हींगड़, मनीष कोठारी आदि ने सभी तपस्वियों का बहुमान किया। इस अवसर पर विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, पूर्व मंत्री नरेंद्र नाहटा, त्रिस्तुतिक जैन समाज अध्यक्ष गजेंद्र हींगड़, सकल जैन समाज संयोजक सुरेंद्र लोढ़ा, जिनेंद्र कुमार मारू, गजराज जैन, चातुर्मास समिति अध्यक्ष सुधीर लोढ़ा, सचिव मनोहर सोनगरा, अशोक खाबिया आदि उपस्थित थे। संचालन धर्मेंद्र कर्नावट ने किया। आभार श्रेयांस हींगड़ ने माना।

श्री णमोकार महामंत्र के जाप आज

नीमच। अखिल विश्व णमोकार मंडल द्वारा प्रति पुर्णिमा को श्री णमोकार महामंत्र के जाप आयोजित किया जा रहा हैं। इसी कड़ी में 20 सितंबर शाम 7ः30 बजे से 8ः30 बजे तक श्री वासु पुज्य स्वामी श्वेतांबर जैन मंदिर इंदिरा नगर पर श्री णमोकार महामंत्र के जाप आयोजित होंगे। मंडल अध्यक्ष संदिप खाबिया द्वारा बताया गया है की इस जाप के लाभार्थी श्रीमान रूपचंद शांता बाई रांका परिवार हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local