भानपुरा (नईदुनिया न्यूज)। नगर में पंजाबी कॉलोनी रोड पर तीन करोड़ की लागत से बन रहा 30 फीट चौड़ा व 800 मीटर लंबा नाला एक साल बाद भी पूरा नहीं बना है। आधे-अधूरे नाले को नहीं ढंकने से लोग एवं पशु गिरकर घायल भी हो रहे हैं। शुक्रवार को भी कमलेश पुत्र प्रभुलाल धोबी आरा मशीन पर जाते समय नाले के पास खड़े वाहनों से बचने के चक्कर में साइकिल सहित नाले में जा गिरा। इससे उसका बायां हाथ टूट गया। लोगों ने उसे निकालकर अस्पताल पहुंचाया। शासकीय चिकित्सालय भानपुरा में चिकित्सक नहीं होने से उसे भवानीमंडी ले जाकर उपचार कराया गया। कमलेश के हाथ पर पट्टा चढ़ा है। घायल कमलेश धोबी ने पुलिस थाने में एक आवेदन दिया है कि मैं मजदूरी करके अपना एवं परिवार का भरण-पोषण करता हूं। खुले नाले में गिरने से हाथ में फ्रेक्चर होने पर रुपये उधार लेकर पट्टा चढ़वाया है। अभी मेरा उपचार चलेगा। ठेकेदार एवं नगर परिषद की लापरवाही के चलते मुझे शारीरिक, मानसिक एवं आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लापरवाह लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर मुझे आर्थिक मुआवजा दिलाया जाए। इस मामले में वार्ड 2 के पार्षद प्रतिनिधि शीतल भूटानी ने बताया कि अनेक बार खुले नाले को ढंकने एवं नाले का काम समय सीमा में शीघ्र पूरा करने की लिखित सूचना देते रहे हैं। नाला खुला होने से भारी परेशानी हो रही है। पहले भी कई लोग एवं पशु नाले में गिर चुके हैं। पंजाबी समाज अध्यक्ष व्यवसायी मुकेश वधवा, अंकित वधवा, शिव सक्सेना, साहिल वधवा, विजय विश्वकर्मा, मोहित राठौर, भरत भूटानी सहित अनेक लोगों ने बताया कि यह लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ है। खुले नाले को ढंकने के लिए नगर पालिका अधिकारी, इंजीनियर व ठेकेदार द्वारा ध्यान नहीं देने से ही आए दिन दुर्घटना होती रहती है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस