महू। क्षेत्र के मेमदी गांव में 103 साल की महिला ने अपनी इच्‍छाशक्ति और बुलंद इरादों के दम पर कोरोना वायरस संक्रमण को शिकस्‍त दे दी। वृद्धा का उपचार भी उनके घर पर ही किया गया।

जानकारी के अनुसार जैसे ही इस बात का पता चला कि 103 वर्षीय भूरिया बाई कोरोना संक्रमित हैं तो उन्‍हें उनके घर पर ही रखा गया था। इस दौरान उनकी रोजाना जांच की जा रही थी। 7 सितंबर को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद परिजन चिंतित हो गए थे। परिजन उन्‍हें इतनी उम्र में अस्‍पताल भेजने के संबंध में भी कोई निर्णय नहीं ले पा रहे थे। इसके बाद सोचविचारकर उन्‍हें होम आइसोलेशन में रखने का निर्णय लिया गया।

उनकी घर पर देखभाल के लिए उनकी बहू और ग्राम की आशा कार्यकर्ता की जिम्मेदारी तय की गई जबकि निगरानी के लिए आर आर टीम भगोरा व सिमरोल टीम को जिम्मेदारी सौंपी गई। बीएमओ डॉक्‍टर संजय जैन के मार्गदर्शन में टीम ने अपने काम को बखूबी अंजाम दिया। इसका नतीजा यह हुआ कि भूरिया बाई ने कोरोना को मात दे दी।

उल्‍लेखनीय है कि महू में कोरोना अब तक 54 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। अब एक्टिव केस 457 हैं। अब तक एक हजार से अधिक लोग इस बीमारी से निजात पा चुके हैं।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020