बेटमा। नगर में मंगलवार शाम आंधी-तूफान के साथ लगभग 25 मिनट हुई बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया। हालांकि इससे लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली है, लेकिन बिजली व्यवस्था ने परेशान किया। बारिश के दौरान साइन बोर्ड व पेड़ गिरने, साइबान उखड़ने, बिजली के तार टूटने, जलजमाव जैसी समस्याएं हुईं।

दिनभर गर्मी पड़ने के बाद शाम को मौसम अचानक बदल गया और आसमान पर बादल छा गए। शाम 6.30 हुई बूंदाबांदी के बाद हल्की बारिश शुरू हुई जो कुछ मिनट के बाद थम गई। हालांकि कुछ देर बाद हल्की गर्जना के साथ पुनः तेज बारिश का दौर शुरू हो गया। इस दौरान चली आंधी में दुकानों के बाहर रखा सामान पत्ते के समान उड़ता नजर आया और कुछ दुकानों के साइबान व अस्थायी दुकानों पर लगे तंबू उखड़ गए वहीं धूप से बचाव हेतु दुकानों के आगे सड़क पर बांधी गई नेट भी कहीं साबुत नहीं बची। आंधी से स्थानीय बैंक आफ इंडिया शाखा के बाहर लगा बैंक का साइन बोर्ड टूटकर सड़क किनारे खड़ी दो कारों पर जा गिरा जिससे कारों को क्षति पहुंची है। साथ ही कहीं से उड़कर आई लोहे की चद्दर भी बैंक के सामने वाली पट्टी में खड़े दोपहिया वाहन पर जा गिरी। इस दौरान सागोर रोड पर बड़ी विद्युत लाइन का तार भी टूट जाने से एक घंटे से अधिक बिजली बंद रही। बारिश की शुरुआत में जहां लोग सुरक्षित स्थान की ओर दौड़ लगाते नजर आए तो बारिश थमने के बाद दुकानदार अपना सामान समेटते दिखे। बारिश से कई जगहों पर जलजमाव की स्थिति निर्मित हो गई वहीं दुकानें भी समय से पहले बंद हो गईं। बारिश के बाद उमस का एहसास होता रहा लेकिन रात में मौसम खुशनुमा हो गया।

आज से लग रहा नवतपा

गत सप्ताह गर्मी अपने चरम पर थी। सूरज की झुलसाने वाली किरणें और लू के थपेड़ों से लोगों का बुरा हाल हो रहा था। अधिकतम तापमान 43 डिग्री पहुंच गया था। सुबह 9 बजे से ही गर्मी का अहसास होने लगता था और दोपहर में मौसम में शरीर को झुलसाने वाला हो जाता था। सूरज की चमकती धूप में आंख खोलना भी मुश्किल होता था। वहीं पिछले तीन-चार दिनों से हवा चलने के कारण सूरज की तपिश की अहसास कम हो रहा था। बुधवार से नवतपा लग रहा है । इसमें गर्मी का एहसास और अधिक होता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close